लखनऊ: 2 करोड़ 71 लाख व 43 लाख की धोखाधड़ी करने वाले साइबर अपराधी का पर्दाफाश

फर्जी सीबीआई अधिकारी बनकर डिजीटल अरेस्ट कर डरा-धमका कर पीड़िता के साथ 2 करोड़ 71 लाख व 43 लाख की धोखाधड़ी करने वाले साइबर अपराधी का पर्दाफाश-

दिनाँक 19.06.2024 को वादिया द्वारा सूचना दी गयी कि मेरे पास SBI CUSTOMER SERVICE DEPARTMENT से एक अज्ञात कॉल आई और कहा कि आपके क्रेडिट कार्ड से अनिधिकृत लेन देन किया गया है। इसके बाद एक अज्ञात व्यक्ति ने अपने आपको पुलिस अधिकारी बताते हुए काल कर कहा कि इस केस में आपकी आईडी का प्रयोग हुआ है। आप सुरेश अनुराग मनी लान्ड्रिग केस में सस्पेक्ट हैं ।फिर उस व्यक्ति द्बारा कॉल को एक अन्य व्यक्ति को यह बताकर ट्राँसफऱ किया गया कि CBI के अधिकारी आपसे बात करेंगे फिर उस व्यक्ति ने जोकि अपने आपको CBI अधिकारी बता रहा था उसने वादिनी को डराया धमकाया व डिजिटल हाउस अरेस्ट के नाम पर वादिया के साथ  2 करोड़ 71 लाख रूपये की ठगी कर ली गयी।जिस पर थाना साइबर क्राइम लखनऊ पर अपराध संख्या-89/2024 धारा 419/420 भा0द0वि0 व 66 डी आईटी एक्ट पंजीकृत हुआ तथा दिनांक 15.06.2024 को लखनऊ के ही एक अन्य पीड़त से समान तरीके से डिजीटल हाइस अरेस्ट के नाम पर 43 लाख की ठगी की गयी जिसके सम्बन्ध मेंथाना साइबर क्राइम लखनऊ पर अपराध संख्या- 88/2024 धारा 419/420 भा0द0वि0 व 66 डी आईटी एक्ट पंजीकृत हुआ । उक्त अभियोग के अनावरण हेतुश्रीमान् पुलिस आयुक्त लखनऊ, श्रीमान् संयुक्त पुलिस उपायुक्त के निर्देशन में श्रीमान् पुलिस उपायुक्त (पूर्वी), श्रीमान् अपर पुलिस उपायुक्त (पूर्वी), श्रीमान् सहायक पुलिस आयुक्त (पूर्वी) महोदय के कुशल पर्यवेक्षण में साइबर क्राइम थाना लखनऊ पर प्रभारी निरीक्षक बृजेश कुमार यादव के नेतृत्व में अभियुक्तो की गिरफ़्तारी हेतु टीम गठित की गयी |विवेचक विनोद कुमार व उनकी टीम द्वारा उच्च अधिकारीगण के निर्देशन पर सूचना तंत्र सक्रिय कर तकनीकी संसाधनों का प्रयोग कर अभियुक्त गण को आगरासे दिनाँक 27.06.2024 कोगिरफ्तार किया गया ।

अपराध करने का तरीकाः-

              साइबर अपराधी पीड़ित को वर्चुअल माध्यम से काल करके अपने आपको पुलिस / CBI अधिकारी बताते हैं तथा किसी पुराने बहुचर्चित मनी लान्ड्रिग केस में संदिग्ध बताकर फर्जी अरेस्ट वारंट जारी कर डिजिटल हाउस अरेस्ट के नाम पर डराते धमकाते हैं तथा पीड़ित के खाते में जमा धनराशि कोRBI द्वारा जाँच के नाम पर फर्जी खातों में ट्रांसफर करा लेते हैं ।

गिरफ्तार अभियुक्त का विवरण:

  1. यशपाल पुत्र स्व0 गंगाप्रसाद निवासी भूसा की टाल के पास गुलाब नगर नरायच हाथरस रोड थाना एत्माद्दौला जनपद आगरा उत्तर प्रदेश उम्र 24 वर्ष
  2. केशव गोयल पुत्र स्व0 कृष्ण मोहन गोयल निवासी 26 विभव पुरम न्यू राधा नगर बलकेश्वर थाना कमलानगर जिला आगरा उम्र 27 वर्ष
  3. संकेत कुमार पुत्र श्री पूरन सिंह निवासी गुलाब नगर,यादव गार्डन के सामने थाना ट्रान्स यमुना जनपद आगरा उम्र 24 वर्ष

आपराधिक इतिहास-

  1. 88/2024 धारा 419/420/467/468/471/120 बी भा0द0वि0 व 66 डी आईटी एक्ट थाना साइबर क्राइम जनपद लखनऊ
  2. 89/2024 धारा 419/420/467/468/471/120 बी भा0द0वि0 व 66 डी आईटी एक्ट थाना साइबर क्राइम जनपद लखनऊ

गिरफ्तार अभियुक्त से बरामदगी का विवरण-

  • 0अदद स्मार्ट फोन
  • 02अदद चैकबुक बन्धन बैंक
  • 02 अदद ATM कार्ड बन्धन बैंक
  • 01 अदद आधार कार्ड
  • 01 अदद पैन कार्ड

गिरफ्तारी करने वाली टीम –

  1. निरीक्षक विनोद कुमार साइबर क्राइम थाना लखनऊ।
  2. उ0नि0 प्रशान्त रघुवंशी साइबर क्राइम थाना लखनऊ।
  3. सर्विलांस टीम (श्रीमान पुलिस उपायुक्त पूर्वी)।
  • का0 विवेक यादव साइबर क्राइम थाना लखनऊ ।
  • का0 संजय कसौंधन साइबर क्राइम थाना लखनऊ।
  • का0 रवि चौधरीसाइबर क्राइम थाना लखनऊ।
  • का0 सुग्रीश यादव साइबर क्राइम थाना लखनऊ।
Back to top button