120 करोड़ की साइबर ठगी करने वाले गिरोह को लखनऊ साइबर थाना ने किया गिरफ्तार।

ए0के0टी0यू0 की फर्जी मेल आईडी बनाकर मेल भेजने एवं ए0के0टी0यू0 का फर्जी अथारिटीलेटर व केवाईसी प्रपत्र देकर आधिकारिक संचालनकर्ता बनकर ए0के0टी0यू0 के नाम से यूनियन  बैंक में खाता खुलवाकर 120 करोड़ रूपये की धोखाधड़ी करने वाले साइबर अपराधियो की गिरफ्तारी करते हुये त्वरित कार्यवाही करते हुये 119 करोड़ रूपये की धनराशि सम्बन्धित बैंक के खाते में वापस कराया गया-

अवगत कराना है कि दिनाँक12.06.2024 को वादी बैंक प्रबंधक श्री अनुज कुमार सक्सेना द्वारा सूचना दी गयी कियूनियन बैंक की शाखा से 100 करोड या उससे ऊपर की FD के लिए आफरलेटर लेकर ए0के0टी0यू0 से सम्पर्क करके ए0के0टी0यू0 के खाते से बैंक के खाते में 120 करोड जमा करवाकर बैंक व ए0के0टी0यू0 की फर्जी मेल आईडी बनाकर मेल भेजने एवं ए0के0टी0यू0 का फर्जी अथारिटीलेटर व केवाईसीप्रपत्र देकर साइबर अपराधी द्वारा खुद को आधिकारिक संचालनकर्ता बनाकर ए0के0टी0यू0 के नाम से बैंक खाता खुलवाकर चेक लेकर RTGS आदि के माध्यम से धनराशि स्थानान्तरित करवाकर 120 करोड़रूपये की ठगी कर ली गयी।जिस पर थानास्थानीय पर अपराध संख्या- 87/2024 धारा 419/420/467/468/471/120 बी  भा0द0वि0 व 66 डी आईटी एक्टपंजीकृत हुआ। उक्त अभियोग के अनावरण हेतुश्रीमान् पुलिस आयुक्त लखनऊ, श्रीमान् संयुक्त पुलिस उपायुक्त के निर्देशन में श्रीमान् पुलिस उपायुक्त (पूर्वी), श्रीमान् अपर पुलिस उपायुक्त (पूर्वी), श्रीमान् सहायक पुलिस आयुक्त गोमतीनगर महोदय के कुशलपर्यवेक्षण मेंसाइबरक्राइम थाना लखनऊ प्रभारी निरीक्षक बृजेश कुमार यादव के नेतृत्व में अभियुक्तो की गिरफ़्तारी एवं घटना के खुलासे हेतु टीम गठित की गयी।

              प्रभारी निरीक्षक बृजेश कुमार यादव के नेतृत्व में उनकी टीम द्वारा उच्च अधिकारीगण के निर्देशन पर सूचना तंत्र सक्रिय कर तकनीकी संसाधनों का प्रयोग कर अभियुक्तगणो को जनपद सूरत, अहमदाबाद, एवं लखनऊ से07 नफर अभियुक्त गिरफ्तार कर थाना साइबरक्राइम लखनऊ में दिनाँक17.06.2024को दाखिल किया गया।दौराने विवेचना प्रकाश में आये बैंक खाते जिनमें अभियुक्तो द्वारा उपरोक्त धनराशि स्थानान्तरित की गयी थी तत्परता दिखाते हुये उन खातो को फ्रीज कराया गया एवं 119 करोड़ रूपये की धनराशि सम्बन्धित यूनियन बैंक के खाते में वापस करायी गयी।

अपराध करने का तरीकाः

              साइबरअपराधियो द्वारा यूनियन बैंक के ब्रान्च मैनेजर का फर्जी विजिटिंग कार्ड व फर्जी मेल आईडी ubin0803448@unionbanks.co.inबनाकर अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी की मेल आईडी fo@aktu.ac.inएवं AKTU की फर्जी मेल आईडी fo@aktufinance.inबनाकर बैंक की मेल आईडी ubin0803448@unionbankofindia.bankपर मेल भेजकर एकेटीयूजानकीपुरम लखनऊ के सरकारी फण्ड का एफ0डीकराने के नाम पर फर्जी व कूटरचित दस्तावेज तैयार करते हुये यूनियन बैंक शाखा विधानसभा मार्ग हजरतगंज लखनऊ  में एफडी एकाउन्ट ओपन कराकर एकेटीयू के फण्ड को उपरोक्त बैंक के पूलएकाउण्ट में 120 करोड़ रूपये की धनराशि स्थानान्तरित करा ली गयी, जिसमें से अभियुक्तो द्वारा आरटीजीएस के माध्यम से 100 करोड़ की धनराशि अन्य खातो में स्थानान्तरित कर ली गयी।

गिरफ्तार अभियुक्त का विवरण-

  1. जोशीदेवेन्द्र प्रसाद प्रभाशंकर पुत्र प्रभाशंकर निवासी- 1103 साईलेक्जीरियानियरश्रीकर विद्या स्कूल अमरौली जनपद सूरत गुजरात। उम्र लगभग 61 वर्ष।
  2. पटेल उदय पुत्र हरशद भाई निवासी ए-22 भगवती फ्लैटबैजलपुरजीवराज पार्क अहमदाबाद। उम्र लगभग 23 वर्ष।
  3. राजेश बाबू पुत्र मथुरा प्रसाद निवासी पानापुर खुर्द मलकादीन, हसनगंज थाना आशीवन जनपद उन्नाव उ0प्र0। उम्र लगभग 44 वर्ष।
  4. गिरीश चंद्र पुत्र सोमई राम निवासी 2/132 सेक्टर-बी मानसरोवर योजना कानपुर रोड एलडीए कालोनी बीकेटी लखनऊ उ0प्र0। उम्र लगभग 40 वर्ष।
  5. शैलेश कुमार रघुवंशी पुत्र हरिदास सिंह निवासी बी-329, सेक्टर नियरकारमेल चौराहा महानगर जनपद लखनऊ उ0प्र0। उम्र लगभग 50 वर्ष।
  6. दस्तगीर आलम पुत्र कबीर अहमद निवासी सरेसर ग्राम सलाबथगढ, मुसाफिर खाना, जनपद अमेठी उ0प्र0। उम्र लगभग 51 वर्ष।
  7. कृष्णकान्त पुत्र हरिरामत्रिपाठी निवासी ग्राम जयपुरवा, पो- गाँधीनगर, अमहट जनपद बस्ती उ0प्र0। उम्र लगभग 53 वर्ष।

गिरफ्तार अभियुक्त से बरामदगी का विवरण-

  • रिकवरी/वापसी 119 करोड़ रूपये की धनराशि।
  • 07 अदद मोबाइल फ़ोन |

गिरफ्तारी करने वाली टीम –

  1. प्रभारी निरीक्षक बृजेश कुमार यादव,साइबरक्राइम थाना लखनऊ ।
  2. सर्विलांस सेल कार्यालय डीसीपी पूर्वी लखनऊ।
  3. उ0नि0 रवि वर्मा,साइबरक्राइम थाना लखनऊ ।
  4. मुख्य आरक्षी रिजवानुल्ला अंसारी, साइबरक्राइम थाना लखनऊ ।
  5. मुख्या आरक्षी पदम सौरभ, साइबरक्राइम थाना लखनऊ ।
  6. मुख्य आरक्षी विवेक सिंह साइबरक्राइम थाना लखनऊ ।
  7. का0 विवेक यादव,साइबरक्राइम थाना लखनऊ ।
  8. का0 धनीश यादव,साइबरक्राइम थाना लखनऊ ।
  9. का0 संजय कसौधन,साइबरक्राइम थाना लखनऊ।
  10. का0 नवीन राय,साइबरक्राइम थाना लखनऊ ।
  11. का0 राजेश तिवारी, साइबरक्राइम थाना लखनऊ ।
  12. का0 अमरजीत, साइबरक्राइम थाना लखनऊ ।
Back to top button