जखौली: गाँवो व बाजारों से टैक्स की पूरी वसूली, सफाई कर्मी भेजना भूली

डे नाईट न्यूज़ पंचायत राज विभाग ने ग्रामीण क्षेत्रो को स्वच्छ व साफ सुथरा रखने के लिए जगह-जगह कूड़ेदान स्थापित तो कर दिये लेकिन कूड़ेदानो मे एकत्रित कूड़े  के निस्तारण की कोई व्यवस्था नही की गयी है, पंचायती राज विभाग द्वारा कर्मचारी की नियुक्ति न किये जाने से जब से कूड़ेदान लगाये गये हैं तब और आज तक कूड़ा तस का तस पड़ा हुआ है।

जानकारी के लिए बता दे कि सरकार ने 15वें वित्त आयोग से स्वीकृत धनराशि से गाँवो मे करोड़ो रु की लागत से कूड़े को अपने घरो मे जमा करने के लिए जैविक ,अजैविक डेस्टविन व ग्राम पंचायतों को तो जरूर वितरण किये लेकिन उनका प्रयोग लोग कूड़े के लिए नही बल्कि घरो मे अपनी आवश्यक चीजे जैसे आटा, चावल इत्यादि के लिए उपयोग मे ला रहे हैं और जो बाजारों और गाँवो लगाये गये कूड़ा कलेक्शन हेतू कूड़ेदान रखे गये है उनमे जमा कूडे से अब भंयकर बदबू भी आने लगी है,तथा दुर्गध से गाँवो की हवा दूषित होने लगी है जिससे आने वाले समय मे बिमारी फैलने का डर अब लोगो को सताने लगा है।

ज्ञात हो कि विकासखंड जखोली के गाँवो व मुख्य बाजारो मे पंचायतराज विभाग ने स्वच्छ ग्राम स्वच्छ भारत अभियान के तहत कूड़ेदान लगाये गये हैं ताकि गाँवो मे सफाई व्यवस्था बेहतर हो सके लेकिन जखोली के दर्जनों गांव,कस्बों व बाजारों मे रखे गये कूड़ेदानों मे कूड़ा आज भी वैसे ही देखने को मिल रहा है। ग्रामीण रोजाना इन कूड़ेदानों मे कचरा डाल रहे हैं जगह जगह कचरा कूड़ेदानों मे डम्प हो रहा है लेकिन प्रशासन कूड़ा नही उठा रहा है।

आपको अवगत करा दे जखोली के ग्राम पंचायत बुढऩा, के फतेड़ू बाजार मे भी दो कूड़ेदान एक जैविक व एक अजैविक लगाये गये है जिनको लगे आज लगभग 6 माह का समय गुजरने वाला है लेकिन तब से और आज तक जिलापंचायत रूद्रप्रयाग द्वारा कूड़े का निस्तारण नही किया गया। बुढऩा की प्रधान श्रीमती आरती देबी,पूर्व प्रधान धनपूरु लाल,सामाजिक कार्यकर्ता जगत सिह कंडवाल, पूर्व प्रधान सौकार सिह राणा,दलेब सिह राणा सहित फतेड़ू बाजार के ब्यापारियों का कहना है कि इस संमध मे हमने एक प्रार्थना पत्र जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अमरदेई शाह को भी दिया लेकिन कूड़ेदान मे जमा कचरे के निस्तारण हेतू कोई कार्यवाही नही की गयी।

वही दुकानदारों का ये भी कहना है कि जब कचरा अत्यधिक जमा हो गया तो हमने उसे स्वयं जलया अखर जलाते नही तो सारे बाजार का बातावरण दुर्गंधयुक्त हो रहा था। जब बाजारो का कचरा नही उठाया जा रहा तो फिर गाँवो की क्या स्थिति होगी, इतना जरुर है कि जिला पंचायत ने किन्ही दो नावालिग बच्चों को 5 जून को चिरबटिया बाजार मे कूड़ेदान मे जमा कूड़े की सफाई के लिए जरूर भेजा था।

Back to top button