लखनऊ: 30 जुलाई को दिल्ली रामलीला ग्राउंड में रैली करने की इप्सेफ तैयारी हुई शुरू

डे नाईट न्यूज़ पुरानी पेंशन बहाली व निजीकरण के विरोध में इप्सेफ बड़ी संख्या में कर्मचारी दिल्ली कूच करने के तैयारी में हैं।आगामी 30 जुलाई को राष्ट्रीय स्तर के विभिन्न संगठनों से जुड़े कर्मचारी रामलीला मैदान में एकत्र होकर अपनी मांग के लिए आवाज उठाएंगे। शुक्रवार को इप्सेफ के राष्ट्रीय सचिव अतुल मिश्र ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष वीपी मिश्र को गुजरात प्रदेश की संकलन समिति द्वारा अहमदाबाद में पुष्प गुच्छ एव साल भेंट कर भव्य स्वागत किया गया।

वहीं वीपी मिश्र ने संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में देश भर के कर्मचारियों का अस्तित्व खतरे में हो गया है। पुरानी पेंशन की बहाली, आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की सेवा सुरक्षा एवं न्यूनतम वेतन देने, भविष्य में रिक्त पदों पर नियमित भर्ती, पदोन्नतियां, राष्ट्रीय वेतन आयोग का गठन करने तथा सरकारी संस्था का निजीकरण बन्द करने की मांग के लिए 30 जुलाई को रामलीला मैदान दिल्ली में भारी संख्या में कर्मचारियों से भाग लेने की अपील की है।श्री मिश्र ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि गुजरात में रिक्त पदों पर 5 वर्ष तक फिक्स वेतन पर नियुक्ति से संतोषजनक कार्य करने पर भी नियमित नियुक्ति करने की निन्दा की और प्रदेश सरकार से मांग की कि रिक्त पदों पर नियमित भर्ती की जाये, तथा पदोन्नति की जाए, सभी कर्मचारियों को 7वें वेतन आयोग की संस्तुतियों के अनुरूप वेतन व भत्ता दिया जाए।

बैठक के दौरान आयोजन संकलन समिति के अध्यक्ष विष्णु भाई पटेल, उपाध्यक्ष संजय पटेल, गिरीश, महासचिव वेदप्रकाश,अशोक शाह, भूपेन्द्र चौहान सहित दर्जनों संगठनों के पदाधिकारियों द्वारा आयोजन किया गया था।इसी क्रम में राष्ट्रीय सचिव अतुल मिश्र को भी पुष्प एवं साल भेंट कर स्वागत किया गया। विष्णु भाई पटेल अध्यक्ष एवं वेदप्रकाश ने संयुक्त रूप से कहा कि देश भर के कर्मचारी महासचिव परिवार के अस्तित्व की रक्षा करने, पुरानी पेंशन बहाली सहित सभी मांगों को पूरा कराने के लिये इप्सेफ द्वारा आयोजित सभी आन्दोलनात्मक की तैयारियों में बढ़ चढ़ कर भागीदारी की है और आगे भी करते रहेंगे। अतुल मिश्र कहना है कि 18 मई को प्रदेश में धरना प्रदर्शन के दौरान प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजा गया था।

Back to top button