पैसे के अभाव में किसी की पढ़ाई नहीं रुकेगी : ममता बनर्जी

DAY NIGHT NEWS:

कोलकाता। पैसे की कमी किसी की भी शिक्षा बाधित नहीं हो या किया जाए। उक्त बात निर्देश आज राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक कार्यक्रम में बोलते हुए दिया। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने राज्य के शिक्षा मंत्री ब्रात्य बोस को निर्देश के सामने उक्त बातें कही। सीएम ने साथ ही शिक्षा विभाग में एक ऐसा लेटर बॉक्स रखने का आदेश दिया जिसके तहत  राज्य के छात्र-छात्राएं अपनी पढ़ाई से जुड़ी आर्थिक समस्याओं की रिपोर्ट कर सकते हैं। इस संबंध में ममता ने खुद राज्य के शिक्षा मंत्री ब्रात्य बोस से कहा, पैसे की कमी किसी की शिक्षा को बाधित नहीं हो। जितने भी पत्र यहां जमा होंगे, उनमें से एक-एक को देखना होगा और उनके सम्बंध में त्वरित निर्णय लेना होगा। आज महानगर कोलकाता के विश्व बांग्ला मेला मैदान में राज्य की 2023 की मुख्य धारा की परीक्षाएं में उत्तीर्ण हुए छात्रों को सम्मानित करने के लिए एक समारोह आयोजित किया गया। वहां माध्यमिक, उच्च माध्यमिक, आईएसई, आईसीएसई परीक्षा के परीक्षार्थी व उनके अभिभावक आए थे। उत्तीर्ण होने वालों ममता सरकार की ओर से एक बैग भेंट किया गया। उस बैग में किताबें, लैपटॉप, घडिय़ां, सर्टिफिकेट, मेडल और कई अन्य उपहार थे। सीएम ममता ने उस अवसर पर स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड मोबाइल ऐप का भी उद्घाटन किया। ऐप जिसके माध्यम से छात्र सरकारी शिक्षा ऋण के साथ उच्च शिक्षा सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। लेकिन उसके बाद, ममता ने कहा, उन्हें अभी भी यह कहते हुए पत्र मिल रहे हैं कि वह आर्थिक रूप से अध्ययन करने में सक्षम नहीं हैं। ममता ने मंच पर कहा, मुझे कई पत्र मिले हैं, मैंने सब पढ़ा। एक पत्र आया जिसमें लिखा था मैं पैसे की कमी के कारण नहीं पढ़ सकता। मैंने वह पत्र मुख्य सचिव को दे दिया है। पैसे के अभाव में बंगाल में किसी को पढ़ाई करने में दिक्कत नहीं होगी। इस दौरान सीएम ममता ने कहा, 50 हजार छात्रों को 10 लाख रुपए तक के कार्ड दिए गए हैं। इसके अलावा हमने कन्याश्री, एकाश्री, शिक्षाश्री, मेधाश्री, स्वामी विवेकानंद छात्रवृत्ति जैसी छात्रवृत्ति की व्यवस्था कर मेधावी छात्रों को आर्थिक लाभ प्रदान किया है। उसके बाद अगर किसी को दिक्कत हो तो शिक्षा विभाग द्वारा लगाएं गये लेटर बॉक्स में आवेदन पत्र जमा करेंगे। हमें क्या करना है हम करेगें।

Back to top button