लखनऊ: उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक से मिले होम्योपैथिक फार्मासिस्ट

डे नाईट न्यूज़ राजधानी में अपनी नियुक्ति के लिए होम्योपैथिक फार्मासिस्टों का लगातार धरना प्रदर्शन जारी है। मंगलवार को होम्योपैथिक फार्मासिस्ट एकजुट होकर उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक के आवास पर मिलकर अपनी नियुक्ति में आ रही अड़चन के बारे में अवगत कराया। वहीं उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने फोन के माध्यम से अधीनस्थ सेवा चयन आयोग से बात करने के उपरांत फार्मासिटों को समझा बुझाकर आश्वसन देकर लौटा दिया। अब देखना यह दिलचस्प हो गया कि होम्योपैथिक फार्मासिस्टों की 2019 से लंबित चल रही नियुक्ति आखिर कब तक ऐसे ही दर भटकना पड़ेगा।

ज्ञात हो कि उच्च न्यायालय द्वारा वाद का निपटारा कर दिया तो अधीनस्थ चयन आयोग नियुक्ति के लिए आनाकानी क्यों कर रहा है। जिसे कोर्ट ने इडब्ल्यूएस कटेगरी के अभ्यर्थियों को 10 फीसदी आरक्षण वालो का मामला विचाराधीन हो गया था। जिसे कोर्ट ने 10 फीसदी आरक्षण वाले अभ्यर्थियों का रोककर बाकी लोगों का नियुक्त करने का आदेश जारी किया गया था। जिसमें परीक्षा होने के बाद डाक्यूमेंट रिलेवेंट के चलते भर्ती 2019 में ईडब्ल्यूएस का पेंच फंस गया था। जिसमें  2019 के पहले आय क्या थी वह डाक्यूमेंट पेश करने को बताया गया था।

बता दें कि इस श्रेणी में उन अभ्यर्थियों को शामिल किया गया था जो दस लाख से कम आय वालो हो । उन्हें इस श्रेणी के अतंर्गत आने वालो को नियुक्ति दी जायेगी। जिसमें यह बताया गया था ईडब्ल्यूएस वेरी फि केशन होने के बाद  नियुक्ति दिये जाने का आदेश पारित किया गया था। चयनित होम्योपैथिक फार्मासिस्ट अभ्यर्थियों ने विगत 16 मार्च 2019 से नियुक्ति के लिए लगातार अनवरत आमरण अनशन जारी चल रहा है। अभ्यर्थियों का कहना है कि उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा जारी किए गए अंतिम चयन परिणाम में ईडब्ल्यूएस कैटेगरी में चयन को लेकर असफल अभ्यर्थियों द्वारा वाद दायर किए गए थे जो कि उच्च न्यायालय की लखनऊ खंडपीठ एवं इलाहाबाद खंडपीठ द्वारा सभी वाद खारिज कर दिए हैं।

अब फार्मासिस्ट भर्ती में किसी भी प्रकार का कोई भी वाद लंबित नहीं है। अभ्यर्थियों का आरोप है कि उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग अभी भी संस्तुति को शासन भेजने की मंशा में नहीं है। इसी क्रम में समस्त चयनित होम्योपैथिक फार्मासिस्ट अभ्यर्थी उप मुख्यमंत्री द्वारा यूपीएसएसएससी अध्यक्ष प्रवीर कुमार से फोन पर हुई वातार्लाप में कोेई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया गया। धरने में मौजूद दुष्यंत सिंह ,विवेक मिश्रा, पवन यादव,अमित,आरिफ,अनूप समेत मौके पर लगभग 150 अभ्यर्थी मौजूद रहे।

Back to top button