मुख्तार अंसारी को मिली राहत,कोर्ट से दोष मुक्त

गाजीपुर।गाजीपुर की एमपी-एमलए कोर्ट से बाँदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी को आज राहत मिली है।अपर सत्र न्यायाधीश दुर्गेश कुमार पांडेय ने 2009 के हत्या के प्रयास के एक मामले में संदेह का लाभ देते हुए मुख्तार अंसारी को दोष मुक्त करार दिया है।बता दे कि 24 नवम्बर 2009 को मोहम्दाबाद कोतवाली क्षेत्र के मलिकपुरा निवासी मीर हसन ने कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया कि सुबह सुबह टहलते हुए दो लोग आए और उनके ऊपर तमंचे से फायर झोंक दिया गोली उनके कनपटी से होते हुए निकल गयी वे बाल बाल बच गए,बदमाशो ने जाते जाते यह कहते गए कि जेल में जाकर मुख्तार अंसारी से मिल लो नही तो पूरे परिवार की हत्या कर दी जाएगी।सूचना के आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया और आरोपी सोनू यादव और मुख्तार अंसारी के विरुद्ध आरोप पत्र पेश किया था।मामले में सरकारी वकील नीरज श्रीवास्तव ने कुल 4 गवाहों को पेश किया सभी ने अपना बयान कोर्ट में दर्ज कराया।दोनों पक्षो की तरफ से बहस सुनने के बाद कोर्ट ने मुख्तार अंसारी को संदेह का लाभ देते हुए दोष मुक्त करार दिया।मुख्तार अंसारी की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी हुई।

Back to top button