चेन्नई: चेन्नई से हारकर दिल्ली प्लेऑफ की दौड़ से बाहर

डे नाईट न्यूज़ चेन्नई सुपर किंग्स ने बल्लेबाजों के संयुक्त प्रयास के बाद स्पिनरों की कसी हुई गेंदबाजी की बदौलत इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में बुधवार को दिल्ली कैपिटल्स को 27 रन से हरा दिया।

चेपौक स्टेडियम की धीमी पिच पर चेन्नई का कोई बल्लेबाज बड़ा स्कोर नहीं बना सका, लेकिन सभी ने छोटे-छोटे योगदान देकर टीम को 167/8 के स्कोर तक पहुंचाया। इसके जवाब में दिल्ली 20 ओवर में आठ विकेट गंवाकर 140 रन ही बना सकी।
दिल्ली के लिये राइली रूसो और मनीष पांडे ने 59 रन की साझेदारी की, हालांकि इसके लिये उन्होंने 59 गेंदें भी खेलीं। चेन्नई की ओर से मोईन अली ने चार ओवर में मात्र 16 रन दिये, जबकि रवींद्र जडेजा ने चार ओवर में 19 रन देकर एक विकेट चटकाया। इस स्पिन जोड़ी के आठ ओवरों ने दिल्ली को लक्ष्य तक पहुंचने की अनुमति नहीं दी।

चेन्नई 12 मैचों में 15 अंक अर्जित करके अंक तालिका में दूसरे स्थान पर कायम है, जबकि दिल्ली 11 मैचों में सातवीं हार के बाद प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो गयी है।
दिल्ली ने टॉस हारकर गेंदबाजी करते हुए सधी हुई शुरुआत की और खलील अहमद ने पहले ओवर में सिर्फ चार रन दिये। रुतुराज गायकवाड़ ने दूसरे ओवर में तीन चौके जड़कर 16 रन बटोरे, हालांकि यह पावरप्ले में दिल्ली का एकमात्र खराब ओवर था।

अक्षर ने डेवन कॉनवे (13 गेंद, 10 रन) को छोटे स्कोर पर आउट किया जबकि चेन्नई ने पावरप्ले में 49 रन बनाये। गायकवाड़ चार चौकों के साथ 24 रन बनाकर अच्छी लय में दिख रहे थे लेकिन पावरप्ले के फौरन बाद अक्षर ने उन्हें भी पवेलियन भेज दिया।

गायकवाड़ का विकेट गिरने से चेन्नई की रनगति को झटका लगा। चेन्नई 10 ओवर पूरे होने तक सिर्फ 66 रन ही बना सकी, जबकि उसने मोईन अली का विकेट भी गंवा दिया।
शीर्ष क्रम के ढह जाने के बाद चेन्नई को कुछ बड़े ओवरों की जरूरत थी जो उसे शिवम दूबे ने दिलाये। दूबे ने अक्षर पटेल को छक्का जड़कर अपनी पारी का आगाज किया, जबकि अजिंक्य रहाणे (20 गेंद, 21 रन) का विकेट लेने वाले ललित यादव को दो छक्के जड़ते हुए उनकी लय बिगाड़ दी।

मिचेल मार्श ने 15वें ओवर में दूबे (12 गेंद, 25 रन) का विकेट चटकाकर चेन्नई को ज्यादा आगे निकलने की अनुमति नहीं दी। दूबे के साथ 36 रन की साझेदारी करने वाले अंबाती रायडू (17 गेंद, 23 रन) भी कुछ देर बाद पवेलियन लौट गये।
एक समय पर चेन्नई का 160 रन तक पहुंचना मुश्किल लग रहा था, लेकिन महेंद्र सिंह धोनी अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के साथ टीम की सहायता के लिये आगे आये। रायडू का विकेट गिरने के बाद पिच पर उतरे धोनी ने 19वें ओवर में दो छक्के और एक चौका जड़कर चेन्नई को 160 रन के निशान तक पहुंचाया।

धोनी ने अपनी छोटी पारी में आठ गेंद पर 20 रन बनाये, जबकि रवींद्र जडेजा ने उनका साथ देते हुए 16 गेंद पर 21 रन की पारी खेली। मार्श ने आखिरी ओवर में धोनी और जडेजा को आउट करते हुए मात्र सात रन देकर पारी का अंत किया।
मार्श ने अपने तीन ओवर में 18 रन देकर तीन विकेट चटकाये, जबकि अक्षर ने चार ओवर में 27 रन देकर दो विकेट लिये। ललित (तीन ओवर, 34 रन) और खलील अहमद (चार ओवर, 32 रन) को एक-एक विकेट हासिल हुआ।

चेन्नई को इस छोटे स्कोर का पीछा करने के लिये दमदार शुरुआत की जरूरत थी और उसने पावरप्ले में तीन विकेट चटकाते हुए बिल्कुल ऐसा ही किया। दीपक चाहर ने पहले ही ओवर में कप्तान डेविड वॉर्नर का विकेट चटकाया, जबकि तीसरे ओवर में उन्होंने फिल सॉल्ट (11 गेंद, 17 रन) को चलता किया।
दोनों सलामी बल्लेबाजों का जल्दी पवेलियन लौटना पहले ही दिल्ली के लिये चिंता का विषय था और मिचेल मार्श के पांच रन पर रनआउट होने से यह चिंताएं दोगुनी हो गयीं।

तीन विकेट मात्र 25 रन पर गिरने के बाद राइली रूसो और मनीष पांडे ने दिल्ली की पारी को संभाला, हालांकि चेन्नई के स्पिनरों के सामने दोनों ही बेबस नजऱ आये। सातवें ओवर में पांडे के छक्के और आठवें ओवर में रूसो के चौके के अलावा दिल्ली को छठे से 12वें ओवर तक कोई बाउंड्री नहीं मिली।
पांडे और रूसो के बीच 51 गेंद पर 50 रन की साझेदारी पूरी होने के बाद कप्तान धोनी ने गेंद मतीशा पथिराना को सौंपी। पांडे ने उनकी पहली गेंद पर छक्का लगाया लेकिन ओवर की आखिरी गेंद पर पथिराना ने उन्हें पगबाधा करके पवेलियन भेज दिया। पांडे ने 29 गेंद पर 27 रन बनाये। दो ओवर बाद रूसो भी 37 गेंद पर 35 रन बनाकर जडेजा का शिकार हो गये।

दिल्ली 15 ओवर में मात्र 91 रन बनाकर मैच से लगभग बाहर हो गयी थी। अक्षर ने 12 गेंद पर दो चौकों और एक छक्के के साथ 21 रन बनाये, लेकिन वह सिर्फ दिल्ली की हार के अंतर को ही कम कर सके।
पथिराना चार ओवर में 37 रन के बदले तीन विकेट लेकर चेन्नई के सबसे सफल गेंदबाज रहे।

Back to top button