फिलीपीन का दावा, बीजिंग ने दक्षिण चीन सागर में उसके पोत से ‘फ्लोटिंग ऑब्जेक्ट’ को किया जब्त; जांच की उठाई मांग

डे नाईट न्यूज़ दक्षिण चीन सागर में बीजिंग और फिलीपीन के बीच विवादित घटना सामने आई है। फिलीपीन के एक सैन्य कमांडर ने कहा कि रविवार को चीनी तट रक्षक जहाज ने दक्षिण चीन सागर में फिलीपीन के पोत से जुड़ी हुई फ्लोटिंग ऑब्जेक्ट (तैरती हुई वस्तु) को जबरदस्ती जब्त कर लिया। वेस्टर्न कमांड (WESCOM) के कमांडर वाइस एडमिरल अल्बर्टो कार्लोस ने एक बयान में कहा कि यह घटना थिटू द्वीप के लगभग 800 गज (730 मीटर) पश्चिम में रविवार तड़के हुई। साथ ही कहा कि फिलीपीन नौसेना ने अपने अधिकारियों को फ्लोटिंग ऑब्जेक्ट (तैरती हुई वस्तु) की जांच के लिए एक जहाज भेजा है।

बयान में यह नहीं बताया गया कि वस्तु क्या थी? और न ही चीनी तटरक्षक पोत ने संकेत दिया कि उसने इस ऑब्जेक्ट (वस्तु) को क्यों लिया? फिलीपींस में चीन के दूतावास ने टिप्पणी के अनुरोध का कोई तुरंत जवाब नहीं दिया है। वहीं, फिलीपींस के विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि वह घटना की गहन समीक्षा करेगा और समुद्री कानून प्रवर्तन एजेंसियों से विस्तृत रिपोर्ट की प्रतीक्षा कर रहा है।

यह घटना तब हुई जब अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस एशियाई सहयोगी मनीला के साथ संबंधों को बढ़ाने के उद्देश्य से वार्ता के लिए रविवार को फिलीपींस पहुंचीं है। ताइवान के प्रति चीन की बढ़ती मुखर नीतियों का मुकाबला करने के लिए फिलीपीन दौरा अमेरिका का प्रमुख प्रयास है।

एक वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि हैरिस, जिनकी तीन दिवसीय यात्रा में दक्षिण चीन सागर के किनारे स्थित एक द्वीप, पालावान पर एक पड़ाव शामिल है। 2016 के अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण के फैसले के लिए वाशिंगटन के समर्थन की भी पुष्टि करेगा, जिसने विवादित जलमार्ग में चीन के विशाल दावे को अमान्य कर दिया था।

चीन अधिकांश दक्षिण चीन सागर पर दावा करता है। एक रणनीतिक जलमार्ग जिसके माध्यम से हर साल अरबों डॉलर का सामान गुजरता है। ब्रुनेई, मलेशिया, फिलीपींस, ताइवान और वियतनाम भी इस पर अपना दावा करते हैं।

गौरतलब है कि थिटू, जिसे फिलीपींस के लोग पगासा के नाम से जानते हैं। यह सुबी रीफ के करीब है, जो स्प्रैटली में सात कृत्रिम द्वीपों में से एक है। इस पर चीन ने सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें और अन्य हथियार स्थापित किए हैं। थिटू नौ विशेषताओं में से एक है, जो फिलीपींस स्प्रैटली द्वीपसमूह में स्थित है। दक्षिण चीन सागर में दक्षिण पूर्व एशियाई देश की रणनीतिक रूप से सबसे महत्वपूर्ण चौकी है।

Back to top button