अपराधों और आतंकवाद से साझा मुकाबला करेंगे भारत-आसियान, ‘हॉल ऑफ डांसर्स’ का उद्घाटन करेंगे धनखड़

डे नाईट न्यूज़ उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ कंबोडिया की राजधानी नामपेन्ह में आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में भाग लेने पहुंच गए हैं। उन्होंने यहां वियतनाम के प्रधानमंत्री फाम मिन्ह चिन्ह के साथ द्विपक्षीय बैठक की। धनखड़ कंबोडिया के ता प्रोहम मंदिर में ‘हॉल ऑफ डांसर्स’ का उद्घाटन भी करेंगे। हाल ही में इसका जीर्णोद्धार किया गया है। शनिवार को 19 वें आसियान-भारत स्मारक शिखर सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसके बाद जारी साझा बयान में दोनों पक्षों ने अपराध, आतंकवाद व सुरक्षा तथा अन्य तमाम क्षेत्रों में मिलकर काम करने का एलान किया। 

भारत-आसियान सम्मेलन के बाद व्यापक सामरिक साझेदारी (ASEAN-India Comprehensive Strategic Partnership) पर जारी साझा बयान में कहा गया है कि अंतरराष्ट्रीय आर्थिक अपराधों और मनी लॉन्ड्रिंग, साइबर अपराध, ड्रग्स और मानव तस्करी, हथियारों की तस्करी सहित आतंकवाद और अंतरराष्ट्रीय अपराधों के खिलाफ सहयोग बढ़ाया जाएगा। इसके साथ ही भारत-प्रशांत क्षेत्र में शांति, स्थिरता, समुद्री सुरक्षा और सुरक्षा, नेविगेशन और ओवरफ्लाइट की स्वतंत्रता को बनाए रखने और विवादों के शांतिपूर्ण समाधान को बढ़ावा देने की घोषणा की गई। 
19वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन का आयोजन आसियान-भारत संवाद साझेदारी की 30वीं वर्षगांठ के मौके पर किया गया। यह एक स्मारक शिखर सम्मेलन है। उपराष्ट्रपति कंबोडिया के प्रधानमंत्री हुन सेन और मेजबान देश के अन्य अधिकारियों के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे। उपराष्ट्रपति धनखड़ शुक्रवार को कंबोडिया पहुंचे थे। वे कंबोडिया के अंगकोर हेरिटेज पार्क के अंदर स्थित प्रसिद्ध ता प्रोहम मंदिर में हाल ही में फिर बनाए गए ‘हॉल ऑफ डांसर्स’ का उद्घाटन करने वाले हैं। यह सांस्कृतिक व पर्यटन प्रांत सिएम रीप में स्थित है। अभिनेत्री एंजेलिना जोली की फिल्म ‘टॉम्ब रेडर’ में इसे दिखाया गया है। ता प्रोहम के विशाल और प्रसिद्ध बौद्ध मठ के जीर्णोद्धार का काम भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) ने हाल ही पूरा किया है। 

कंबोडिया के उत्तरी भाग में अंगकोर पुरातत्व पार्क के अंदर स्थित ता प्रोहम मंदिर भगवान ब्रह्मा को समर्पित है। कंबोडिया-भारत सहयोग परियोजना के तहत वर्ष 2011 में मंदिर के अंदर ‘हॉल ऑफ डांसर्स’  का जीर्णोद्धार कार्य शुरू हुआ था।  
उपराष्ट्रपति धनखड़ यहां आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए आए हैं। 17वां पूर्वी एशियाई देशों आसियान का शिखर सम्मेलन 13 नवंबर को होगा। धनखड़ मंदिर के उस हिस्से का उद्घाटन करेंगे, जिसके जीर्णोद्धार का काम एएसआई ने हाल ही में पूरा किया है। एएसआई केडीएस सूद ने कहा कि इससे भारत और यूरोप तथा अन्य देशों के पर्यटक यहां बढ़ेंगे।

 अंगकोर हेरिटेज पार्क में दुनिया के कई सबसे प्रसिद्ध स्थान हैं। यहां अंगकोर वाट मंदिर है, जो दुनिया के 10 मानव निर्मित चमत्कारों में से एक और यूनेस्को द्वारा घोषित विश्व धरोहर है। उपराष्ट्रपति धनखड़ अंगकोर वाट मंदिर भी जाएंगे। इस मंदिर में एएसआई ने 80 के दशक में जीर्णोद्धार का काम किया था।

शुक्रवार शाम नामपेन्ह में प्रवासी भारतीयों  को संबोधित करते हुए धनखड़ ने कहा, ‘मैं प्रतिष्ठित परिसर की यात्रा के लिए उत्सुक हूं।’ इससे पहले उपराष्ट्रपति ने एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लिया, जिसमें भारत की एक कथकली मंडली ने महाभारत का मंचन किया। 

Back to top button