खतरनाक होती जा रही है दिल्ली-NCR की हवा, सुबह दिखी धुंध की मोटी चादर, बेहद खराब श्रेणी में AQI

डे नाईट न्यूज़ दिल्ली-एनसीआर की हवा की गुणवत्ता में गिरावट जारी है। राष्ट्रीय राजधानी में चारों ओर आसमान में शुक्रवार सुबह से धुंध छाई हुई है। दिल्ली का वायु प्रदूषण स्तर (AQI) ‘बेहद खराब’ श्रेणी में बना हुआ है।

केंद्र की वायु मानक संस्था सफर इंडिया के मुताबिक, अगले दो दिनों तक हवा की रफ्तार बढ़कर 15 से 26 किलोमीटर प्रतिघंटा तक रहने का पूर्वानुमान है। हालांकि, इस बीच हवा की दिशा उत्तर-पश्चिम होने की वजह से पराली का धुआं दिल्ली-एनसीआर तक पहुंचेगा। सफर के मुताबिक, तेज हवा से प्रदूषकों को छंटने में मदद मिलेगी, लेकिन इस दौरान उत्तर-पश्चिम दिशा से आने वाले प्रदूषकों का दर अधिक होगा, जिससे हवा के बिगड़ने की संभावना है। विशेषज्ञों का कहना है कि अभी हवा की रफ्तार मध्यम होने व धूप निकलने की वजह से प्रदूषक नहीं जम रहे है, जिससे वायु गुणवत्ता अधिक नहीं बिगड़ रही है। मौसमी परिस्थितियों के बिगड़ते ही हवा की सेहत अधिक बिगड़ने लगेगी।

केंद्र की वायु मानक संस्था सफर इंडिया के मुताबिक, अगले दो दिनों तक हवा की रफ्तार बढ़कर 15 से 26 किलोमीटर प्रतिघंटा तक रहने का पूर्वानुमान है। हालांकि, इस बीच हवा की दिशा उत्तर-पश्चिम होने की वजह से पराली का धुआं दिल्ली-एनसीआर तक पहुंचेगा। सफर के मुताबिक, तेज हवा से प्रदूषकों को छंटने में मदद मिलेगी, लेकिन इस दौरान उत्तर-पश्चिम दिशा से आने वाले प्रदूषकों का दर अधिक होगा, जिससे हवा के बिगड़ने की संभावना है। विशेषज्ञों का कहना है कि अभी हवा की रफ्तार मध्यम होने व धूप निकलने की वजह से प्रदूषक नहीं जम रहे है, जिससे वायु गुणवत्ता अधिक नहीं बिगड़ रही है। मौसमी परिस्थितियों के बिगड़ते ही हवा की सेहत अधिक बिगड़ने लगेगी। भारतीय उष्णदेशीय मौसम विज्ञान संस्थान (आईआईटीएम) के मुताबिक, बृहस्पतिवार को हवा की दिशा उत्तर-पश्चिम होने के साथ हवा की रफ्तार चार से 10 किलोमीटर प्रतिघंटा तक रही। विभाग का पूर्वानुमान है कि अगले 24 घंटे में हवा की दिशा उत्तर-पश्चिम रहने के साथ हवा की रफ्तार 12 से 26 किलोमीटर प्रतिघंटा रह सकती है। वहीं, शनिवार को हवा की दिशा उत्तर-पश्चिम होने के साथ हवा की रफ्तार 10 से 18 किलोमीटर प्रतिघंटा रहने की संभावना है। 

कितना एक्यूआई

दिल्ली

  • ओखला में 30
  • आनंद विहार में 349
  • जहांगीरपुरी में 392 

उत्तर प्रदेश

  • नोएडा के सेक्टर 62 में 366
  • गाजियाबाद में 332
  • ग्रेटर नोएडा में 304
  • कानपुर में 230
  • लखनऊ में 293
  • मेरठ में 291 

हरियाणा

  • फरीदाबाद में 311
  • गुरुग्राम में 365 
Back to top button