भारत दुनिया की सबसे तेज अर्थव्यवस्था में से एक, अमेरिकी वित्त मंत्री जेनेट येलेन ने माना

डे नाईट न्यूज़ भारत यात्रा पर आईं अमेरिकी वित्त मंत्री जेनेट येलेन ने कहा है कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। उत्तर प्रदेश के नोएडा में आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने यह बात कही। 

येलेन ने कहा कि अमेरिकी वित्त मंत्री के रूप में मेरी यह पहली भारत यात्रा है। मुझे यहां आकर खुशी हो रही है, क्योंकि भारत अपनी आजादी के 75वें वर्ष का जश्न मना रहा है और जी-20 का अध्यक्ष बनने की तैयारी कर रहा है। जैसा कि राष्ट्रपति बाइडन ने कहा है कि भारत अमेरिका के अटल भागीदारों में से एक है।

अमेरिकी वित्त मंत्री ने माना कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। हम महामारी के प्रभाव से निपट रहे हैं और यूक्रेन में रूसी राष्ट्रपति पुतिन के बर्बर युद्ध से पैदा हुए हालातों के व्यापक आर्थिक तंगी का भी सामना कर रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि भारत व अमेरिका के बीच द्विपक्षीय व्यापार पिछले साल सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया। हमें उम्मीद है कि यह और बढ़ेगा। हमारे लोग व कंपनियां दैनिक आधार पर एक दूसरे पर निर्भर हैं। भारत संवाद के लिए व्हाट्सएप का लगातार उपयोग करता है। कई अमेरिकी कंपनियां इंफोसिस से कामकाज पर यकीन करती हैं। भारतीय मूल के प्रतिभावान लोग गूगल, माइक्रोसॉफ्ट व अन्य बड़ी अमेरिकी कंपनियों के उच्च पदों पर आसीन हैं। 

अमेरिकी वित्त मंत्री ने कहा कि लोकतंत्र जनता की भलाई करता है और विश्व अर्थव्यवस्था का  पथ भारत व अमेरिका द्वारा मिलकर किए जाने वालों कामों से तय होगा। यह बात भारत-प्रशांत क्षेत्र की समृद्धि और सुरक्षा के लिए भी सच है। भारत-अमेरिकी रिश्ते लगातार बढ़ते रहेंगे।

अमेरिकी वित्त मंत्री ने वैश्विक ऊर्जा संकट को लेकर रूस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि रूस ने लंबे समय से खुद को एक विश्वसनीय ऊर्जा भागीदार के रूप में प्रस्तुत किया। लेकिन, अब वह एक उदाहरण है कि कैसे अपने स्वयं के लाभ के लिए कोई देश व्यापार को दुर्भावनापूर्वक बाधित कर सकता है और भू-राजनीतिक लाभ उठाने की कोशिश कर सकता है। 
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भारत अमेरिका आर्थिक साझेदारी की दिल्ली में होने वाली 9 वीं बैठक के पूर्व अमेरिकी वित्त मंत्री येलेन से मुलाकात की। येलेन की भारत यात्रा से पहले अक्तूबर में भारतीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अमेरिका गई थीं। उन्होंने अमेरिकी वित्त मंत्री येलेन के साथ वर्तमान वैश्विक आर्थिक हालात पर चर्चा की थी। सीतारमण ने येलने को नवंबर में भारत में होने वाली अमेरिका भारत आर्थिक और वित्तीय सहयोग बैठक में शामिल होने का न्योता दिया था। 

Back to top button