गोरखपुर में डेंगू के चार नए संक्रमित मिले, 194 पहुंची मरीजों की संख्या

डे नाईट न्यूज़ गोरखपुर जिले में डेंगू संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। बुधवार को हुई जांच में चार नए मरीज मिले हैं। इनमें शहरी और ग्रामीण इलाकों के दो-दो मरीज हैं। इसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या 194 पहुंच गई है। इनमें शहरी क्षेत्र में 120 और ग्रामीण क्षेत्र में 74 मरीज हैं।

जिला मलेरिया अधिकारी अंगद कुमार सिंह ने बताया कि नगर निगम क्षेत्र के बिछिया का रहने वाला 25 वर्षीय युवक, रायगंज के 55 वर्षीय व्यक्ति और हड़हवा फाटक के रहने वाले 50 वर्षीय व्यक्ति में डेंगू का संक्रमण मिला है। बांसगांव क्षेत्र के डडवा चतुर का रहने वाला 32 वर्षीय युवक भी डेंगू से पीड़ित मिला है।

इन मरीजों की पहले एनएस-वन किट से जांच की गई। इसके बाद एलाइजा जांच के लिए सैंपल भेजा गया, जहां डेंगू की पुष्टि हुई है। बताया कि छह मरीज पहले से जिला अस्पताल में भर्ती हैं। जबकि, दो नए मरीज बुधवार को भर्ती हुए हैं। हरपुर बुदहट क्षेत्र दो गांवों में डेंगू के दो मरीज मिले हैं। डेंगू की पुष्टि होने पर दोनों मरीज होम आइसलोशन में है। दोनों को एक हफ्ते से बुखार की शिकायत थी। सोनबरसा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत झकहि बाबू में एक महिला को दो हफ्ते से बुखार था। इन्होंने सहजनवां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर जांच कराई जहां डेंगू की पुष्टि हुई। दवा लेकर महिला घर पर है। वहीं विशुनपुरा गांव के एक युवक को एक हफ्ते से बुखार था। उन्होंने एक पैथोलॉजी में जांच कराई तो डेंगू की पुष्टि हुई। वह भी दवा कराने के साथ घर पर हैं। लोगों ने गांव में डेंगू के मरीज मिलने पर कीटनाशक छिड़काव की मांग की है। लालडिग्गी पार्क के फौव्वारे में डेंगू का लार्वा मिलने के बाद भी अभी तक वहां दवाओं का छिड़काव नहीं हुआ। इसे लेकर क्षेत्र के लोगों में आक्रोश है। लोगों ने नगर आयुक्त से फौव्वारे का गंदा पानी निकलवाने के साथ ही वहां छिड़काव की मांग की है। गत दिनों जिला मलेरिया नियंत्रण अधिकारी अंगद सिंह ने लाल डिग्गी पार्क का निरीक्षण किया था। इस दौरान वहां कई जगह डेंगू के लार्वा मिले थे। उन्होंने पार्क में तैनात गार्ड को जरूरी दिशा-निर्देश दिए थे। इसकी रिपोर्ट भी नगर निगम को भेजी थी। मगर, अभी तक न तो पानी हटाया गया और न ही दवाओं का छिड़काव ही हो सका। डेंगू के बढ़ते मरीजों के बीच स्वास्थ्य विभाग ने लार्वा नष्ट करने के लिए अभियान की शुरुआत की है। इसके तहत टीम ने बुधवार को जाफरा बाजार इलाके में जांच की, जहां लार्वा मिलने पर उसे नष्ट किया गया। साथ ही छह घरों को नोटिस देते हुए सख्त हिदायत दी गई कि अगर दूसरी बार लार्वा मिलते हैं, तो जुर्माना वसूला जाएगा।
 

Back to top button