हथियार डीलर संजय भंडारी के प्रत्यर्पण को मंजूरी, ब्रिटेन की कोर्ट ने दी मंजूरी

डे नाईट न्यूज़ हथियारों के दलाल संजय भंडारी को भारत प्रत्यर्पित करने के मामले में बड़ी खबर आई है। एक एक ब्रिटिश कोर्ट ने सोमवार को संजय भंडारी के प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी है। ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। भंडारी को जुलाई 2020 में प्रत्यर्पण वारंट के आधार पर गिरफ्तार किया गया था। भंडारी ने इसके खिलाफ वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में अपील की थी।

भारत में मनी लान्ड्रिंग के आरोप तय
सीबीआई और ईडी की तरफ से संजय भंडारी के खिलाफ भारत में मनी लान्ड्रिंग के आरोप तय किए गए हैं। ब्रिटेन में होने के कारण उसे भगोड़ा घोषित किया जा चुका है। भारत सरकार ने भंडारी के प्रत्यर्पण की अपील ब्रिटेन से की थी।

15 जुलाई 2020 को गिरफ्तार किया गया था
16 जून 2020 को तत्कालीन ब्रिटिश गृहमंत्री प्रीति पटेल ने भंडारी के प्रत्यर्पण आग्रह को स्वीकार कर लिया था। इसके बाद 15 जुलाई 2020 को उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। उसे अदालत ने 1.20 लाख पाउंड की सिक्योरिटी के साथ अपना पासपोर्ट जमा कराने, मध्य लंदन स्थित घर में नजरबंद रहने और नजदीकी पुलिस स्टेशन में रोजाना हाजिरी लगाने समेत सात शर्तों के साथ जमानत दी थी। 

कुछ रिपोर्ट्स की मानें तो मनी लान्ड्रिंग के मामले में भगोड़ा घोषित संजय भंडारी को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति राबर्ट वाड्रा का करीबी कहा जाता है। वाड्रा के खिलाफ लंदन में भंडारी से बहुत सस्ते दाम पर बंगला खरीदने की जांच भी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कर रहा है। हालांकि वाड्रा उसके साथ कोई भी व्यापारिक संबंध होने से इनकार करते रहे हैं।

Back to top button