इमरान खान ने चुनाव आयोग पर लगाए गंभीर आरोप, साझा किया संकट से निकलने का ‘एक मात्र समाधान’

डे नाईट न्यूज़ पाकिस्तान में सरकार भले ही बदल गई हो, लेकिन मुल्क के आर्थिक हालात इतने खराब है कि कभी भी स्थिति हाथ से निकल सकती है। इस बीच पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि वर्तमान सियासी और आर्थिक संकट का एक मात्र समाधान तत्काल और पारदर्शी चुनाव हैं। हालांकि, उन्होंने नवाज शरीफ की सत्तारूढ़ पार्टी पीएमएल-एन (पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन)) पर चुनावों को जानबूझकर टालने का आरोप लगाया। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री को देश के खराब आर्थिक हालातों के कारण विपक्ष के भारी विरोध का सामना करना पड़ा था। इस कारण उन्हें सत्ता से भी बाहर कर दिया गया था। स्थानीय मीडिया से बात करते हुए इमरान खान ने चुनाव आयोग पर भी गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा,  पाकिस्तान के मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) सिकंदर राजा सुल्तान ने शरीफ सरकार का साथ दिया और ईवीएम से छेड़खानी भी की। उन्होंने कहा, हमने देश में पारदर्शी चुनाव कराने के लिए ईवीएम की शुरुआत की थी, लेकिन सीईसी सिकंदर राजा ने पीएमएल-एन के समर्थन से इसे खराब कर दिया। इस दौरान इमरान खान ने दावा किया कि उनके पास शरीफ की सहयोगी पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी  के खिलाफ खुले तौर पर धांधमी में शामिल होने के सबूत हैं। उन्होंने कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश में आज तक पारदर्शी चुनाव नहीं हुए हैं।

Back to top button