एम्स की मेस से लिए गए खाने के सैंपल फेल

नई दिल्ली। दिल्ली एम्स की मेस में खाने की खराब गुणवत्ता के बाद अब यहां से लिए गए सैंपल फेल हो गए हैं। फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट ने 15 सैंपल लिए थे। विभागीय सूत्रों के मुताबिक मेस में खाने की गुणवत्ता बेहद खराब है और पनीर के सैंपल में घी के स्थान पर रिफाइंड का इस्तेमाल किया जा रहा था। पिछले दिनों आरडीए ने एम्स प्रशासन को पत्र लिखकर मेस में परोसे जाने वाले भोजन की गुणवत्ता पर सवाल खड़े किए थे। यह मामला सामने आने के बाद खाद्य सुरक्षा विभाग की आयुक्त नेहा बंसल के निर्देश पर नामित अधिकारी (डीओ) रणजीत सिंह के नेतृत्व में खाने की गुणवत्ता जांचने के लिए सैंपल लिए गए थे।

एम्स के डॉक्टरों ने शिकायत की थी रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन ने कुछ दिन पहले मेस के सड़े हुए खाने की 12 तस्वीरें संलग्न कर अस्पताल के निदेशक डॉक्टर गुलेरिया और डीन को पत्र लिखकर शिकायत की थी। इसमें लिखा था कि 10 अगस्त को हुए मेस के औचक निरीक्षण में पता चला कि जहां बर्तन साफ होते हैं वहां चूहे घूम रहे थे, डीप फ्रीजर में फंगस लगा हुआ था। जिस प्लास्टिक बैग में चिकन रखा था वहां चींटियां घूम रही थीं। सड़ी हुई प्याज और खीरे सलाद के लिए रखे गए थे, उनसे बदबू आ रही थी। एम्स की डॉक्टर एसोसिएशन ने अपने पत्र में लिखा था कि पहले से इस मेस की गंदगी को लेकर शिकायत लोग कर थे।

Back to top button