एक साल में मध्यप्रदेश में कुपोषण समाप्त किया जा सकता है…

डे नाईट न्यूज़ । मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को कहा कि प्रदेश में कुपोषण की समस्या वर्षों से रही है और जन भागीदारी से इसे एक साल में समाप्त किया जा सकता है।

मध्यप्रदेश जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार, उन्होंने आज प्रातः 6:30 बजे रायसेन और नरसिंहपुर जिले की विकास गतिविधियों, जन-कल्याणकारी योजनाओं और कानून-व्यवस्था की स्थिति की अपने निवास कार्यालय से वर्चुअल समीक्षा करते हुए यह बात कही।

चौहान ने कहा, ‘‘प्रदेश में कुपोषण की समस्या वर्षों से रही है। इस दिशा में निरंतर प्रयास भी किए जाते रहे हैं। परन्तु मेरा यह मानना है कि समाज के सहयोग के बगैर प्रदेश में कुपोषण दूर नहीं किया जा सकता।’’

उन्होंने कहा कि प्रदेश के कई स्थानों पर गौरव दिवस का आयोजन शुरू किया गया, जिसमें लोगों ने आँगनवाड़ी के लिए भी सामग्री दी।

चौहान ने कहा, ‘‘मैं स्वयं 24 मई को भोपाल में आँगनवाडियों के लिए सामग्री एकत्र करने के उद्देश्य से सड़कों पर निकला। कुल 800 मीटर की यात्रा में जनता की ओर से 10 ट्रक सामग्री और 2 करोड़ रुपये के चेक प्रदान किए गए। कई लोगों ने आँगनवाड़ियों की जिम्मेदारी लेने का संकल्प लिया। यह जन-भागीदारी का अद्भुत प्रयोग रहा है।’’

उन्होंने कहा कि सामाजिक कार्यों और लोगों का जीवन स्तर उठाने में सहयोग के लिए सभी तत्पर हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमें जन-कल्याणकारी योजनाओं और विकास गतिविधियों में जन-भागीदारी को अभियान का रूप देना होगा। किसान अनाज दें, लोग अपने जन्म-दिवस, वर्षगाँठ, परिजन के पुण्य-स्मरण में आँगनवाड़ियों की गतिविधियों में योगदान दें। जन-अभियान परिषद, दीनदयाल अंत्योदय समिति और सामाजिक संगठनों को जोड़ा जाए।’’

चौहान ने कहा, ‘‘मेरा यह विश्वास है कि जन भागीदारी से एक साल में प्रदेश में कुपोषण समाप्त किया जा सकता है।’’

Back to top button