तमिलनाडु को दक्षिण एशिया का प्रमुख बनाने की कोशिश…

डे नाईट न्यूज़ । तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्य को पूरे दक्षिण एशिया का एक प्रमुख निवेश गंतव्य बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के इस लक्ष्य में कोयंबटूर की महत्वपूर्ण भूमिका होगी।

कोयंबटूर, इरोड और तिरुपुर जिलों के उद्योगपतियों के साथ बातचीत में स्टालिन ने कहा कि द्रमुक (डीएमके) के सत्ता में आने के बाद निवेशकों का सम्मेलन हुआ जिसमें 69,000 करोड़ रुपये के 131 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए।

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु को भारत में औद्योगिक विकास की सूची में सबसे ऊपर होना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि कोयंबटूर, राज्य को एक हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद कर सकता है।

स्टालिन ने कहा कि इस क्षेत्र के उद्योगपतियों को सेमीकंडक्टर बनाने के लिए प्रयास करने चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोयंबटूर के लिए एक मुख्य योजना तैयार की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोयंबटूर समेत तमिलनाडु के पश्चिमी जिलों में उद्योगों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसके साथ ही यहां के भरतियर विश्वविद्यालय में एक शोध पार्क बनाने की योजना है।

उन्होंने कहा कि सरकार की तमिलनाडु में एक कयर विकास केंद्र स्थापित करने की योजना है। इसके साथ ही छोटे उद्योगों के मुनाफे के लिए इरोड में हल्दी पाउडर उत्पादन केंद्र स्थापित किया जाएगा, जिसपर कुल 3.5 करोड़ रुपये की लागत लगेगी।

मुख्यमंत्री ने पांच जिलों में औद्योगिक पार्क की स्थापना का जिक्र करते हुए कहा कि 218 करोड़ रुपये की लागत से ऐसे चार पार्कों की स्थापना का कार्य जारी है।

Back to top button