जनपद के 20 ग्राम पंचायतों और दो ब्लॉकों में बाल संरक्षण समिति की बैठके संपन्न

ब्लॉक प्रमुख सरदरनगर और ब्रह्मपुर ने बताया कि बाल विवाह और बाल श्रम रोकने हेतु हम लोगो के द्वारा पूरा प्रयास किया जायेगा

Day Night News
National News Network
GORKHAPUR

संजय कुमार यादव
जिला संवाददाता
गोरखपुर

जनपद गोरखपुर के ब्लॉक ब्रह्मपुर और सरदार नगर में महिला कल्याण विभाग एवं श्रम विभाग के समन्वय से ब्लॉक बाल संरक्षण समिति की बैठक संबंधित ब्लॉक प्रमुख की अध्यक्षता में की गई जिसमे समिति के पदाधिकारी खंड विकास अधिकारी, चिकित्सक,खंड शिक्षा अधिकारी,बाल विकास परियोजना अधिकारी बाल संरक्षण अधिकारी ए डी ओ पंचायत बाल कल्याण अधिकारी के साथ साथ सहायक श्रम आयुक्त स्कंद कुमार , श्रम प्रवर्तन अधिकारी, टीआरपी सितारा सिद्धिकी ,काउंसलर बाल संरक्षण इकाई ,चाइल्डलाइन कॉर्डिनेटर उपस्थित रहे। सहायक श्रम आयुक्त स्कंद कुमार ने बताया कि ब्लॉक ब्रह्मपुर के 4 ग्राम पंचायत राजी जगदीशपुर ,जंगल रसूलपुर 2, सिलाहाटा मुंडेरा,एवम सरदरनगर के 8 ग्राम पंचायत,गौनार, डुमरी खास, बिलारी ,बधार,सरैया,चौरी, भरतपुर,छबैला एवम नगर निगम के 8 वॉर्ड जतेपुर रेलवे कॉलोनी, घोसीपुरवा, जनप्रीय विहार, अलहदादपुर,मुफ्तीपुर, शेसपुर, शाहपुर, और शक्ति नगर में 20 से अधिक बाल श्रमिक के पाए जाने के कारण हॉट स्पॉट चिन्हित किए गए है जिनको बाल श्रम एवं बाल विवाह मुक्त बनाए जाने हेतु सभी 12 ग्राम पंचायतों के ग्राम बाल संरक्षण समिति की बैठक की गई जिसमे प्रस्ताव पारित किया कि उन ग्राम में बाल श्रमिक नही है यदि आगे से बाल श्रमिक पाए जाते है तो ग्राम प्रधान द्वारा महिला कल्याण विभाग ,श्रम विभाग,चाइल्ड लाइन हेल्प लाइन 1098 नंबर ,को सूचना दें जिससे बाल श्रमिक को बाल श्रम से मुक्त कराकर उन्हें और उनके परिवार को संबंधित योजनाओं से जोड़कर उनका पुनर्वशन किया जा सके और बच्चो का नामांकन विद्यालय मे कराया जा सके। ब्लॉक प्रमुख सरदरनगर और ब्रह्मपुर ने बताया कि बाल विवाह और बाल श्रम रोकने हेतु हम लोगो के द्वारा पूरा प्रयास किया जायेगा यदि बाल श्रमिक पाए जाते है तो हम लोग विभाग की सहायता से उनके पुनर्वासन हेतु प्रयास करेंगे ।बाल संरक्षण अधिकारी संगीता सिंह द्वारा महिला कल्याण विभाग से चलने वाली योजनाओं मुख्य मंत्री बाल सेवा योजना के माध्यम से कोविड के कारण अपने माता पिता दोनो या माता/ पिता में से किसी एक अभिभावक को खोने वाले बच्चो को 4000 की धनराशि प्रति माह दी जाती है ,मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना( सामान्य) के अंतर्गत कोविड़ काल में किसी भी कारण से अपने माता/ पिता दोनो या माता पिता में से किसी एक को खोने वाले बच्चो को योजनान्तर्गत 2500 रुपए की धनराशि प्रति माह दी जाती है की जानकारी दी गई। यूनिसेफ की टी आर पी सितारा सिद्धकी नया सवेरा द्वारा श्रम विभाग के अंतर्गत चलने वाली योजनाओं , बी ओ सी डब्लू योजना में रजिस्ट्रेशन कराकर 17 योजनाओं का लाभ पाए जाने की जानकारी दी जिसमे से वर्तमान में 15 योजनाएं संचालित है। यदि किसी रजिस्टर्ड श्रमिक के परिवार में लड़की का विवाह किया जाता है तो श्रम विभाग से एक लाख रुपए की मदद की जाती है साथ ही बाल श्रमिक विद्मा योजना की जानकारी दी गयी।
बैठक में रोजगार सेवक ब्रह्मपुर व सरदार नगर,प्राइमरी स्कूल प्रधानाध्यापक, कनिष्ठ सहायक विजय गुप्ता उपस्थित रहे

Back to top button