हत्यारे ने कबूला अपना गुनाह , सुबह होते ही हुआ फरार

डे नाईट न्यूज़ । छह महीने पूर्व महिला की हत्या करने वाले एक आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसने गला घोंटकर मारा और पहचान छुपाने के लिए शव को जला दिया। पुलिस ने आरोपित को गुरुवार दोपहर गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने हत्या करना स्वीकार लिया है। हत्या के बाद वह रातभर लाश के पास ही बैठा था। उजाला होने पर बाहर से दरवाजा बंदकर फरार हो गया।

आजाद नगर टीआइ इंद्रेश त्रिपाठी के मुताबिक पिछले साल 20 नबंवर को आलोक नगर (मुसाखेड़ी) में एक महिला की लाश मिली थी। जांच पड़ताल में पता चला महिला का नाम ज्योति उर्फ पूजा चौहान है। पुलिस ने उसके पति ब्रजेश उर्फ विजय चौहान की तलाश की तो वह फरार हो गया। तभी से पुलिस ब्रजेश के पीछे पड़ी थी जो गुरुवार को हत्थे चढ़ गया। पूछताछ में ब्रजेश ने बताया कि ज्योति उसकी दूसरी पत्नी थी। रोज रोज होने वाले विवाद के कारण उसने गला घोंट कर हत्या की और बाद में लाश को जला दिया। लाश जलाने के बाद भी वह रातभर शव के पास बैठा रहा। बोतल को कमरे में ही छुपा दिया।

पुलिस को महिला की पहचान करने के लिए काफी मशक्कत करना पड़ी। जिस घर में लाश मिली वह आलोक नगर में ही रहने वाले विरेंद्र उर्फ भूरा का है जिसमें बने छोटे-छोटे कमरे में कई लोग किराये से रहते हैं। ब्रजेश और ज्योति भी 18 नवंबर को ही सामान लेकर रहने आए थे। भूरा ने उनसे आइडी मांगी तो दूसरे दिन देने का बोला। 20 नंवबर को तो उसने ज्योति की हत्या ही कर डाली। पुलिस को पता चला कि ब्रजेश राऊ क्षेत्र से आना बता रहा था। ज्योति के तेजपुर गड़बड़ी क्षेत्र में रहने की जानकारी मिली। पुलिस ने कड़ियां जोड़ी और ब्रजेश की जानकारी निकाल ली। उसकी पहली पत्नी पचौर में रहती है। जिससे उसको एक बेटी और एक बेटा है। ज्योति को भी दो बेटे है।

Back to top button