देश के विरोधी रच रहे बदनाम करने की साजिश…

डे नाईट न्यूज़ । अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी के द्वारा कोर्ट कमिश्नर को बदलने के लिए सिविल कोर्ट में डाली गयी याचिका पर सुनवाई शुरू हो गयी है। सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर इसपर 3 बजे दिन से सुनवाई करेंगे। सुनवाई के पहले इस मुकदमे को दायर करने वाले विश्व वैदिक सनातन संघ के प्रमुख जितेंद्र सिंह बिसेन भी वाराणसी सिविल कोर्ट पहुंचे। यहां उन्होंने साफा कहा कि ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे की याचिका हम वापस नहीं ले रहे हैं। देश विरोधी ताकत हमें बदनाम करने और संघ को बदनाम करने के लिए अफवाह फैला रही हैं। वहीँ कोर्ट कमिश्नर बदलने के सम्बन्ध में उन्होंने कहा कि दो बजे उसकी सुनवाई शुरू होगी उसके बाद कुछ कहा जा सकता है। हो सकता है अगले हफ्ते सर्वे शुरू हो जाए।

उन्होंने बताया कि विश्व वैदिक सनातन संघ अन्य 5 मुकदमें श्रीकाशी विश्वनाथ से जुड़े और एक लाट भैरव से जुड़े मुकदमें से याचिका वापस ले रहा है। इसमें अगले एक हफ्ते के अंदर नयी याचिका विश्व वैदिक सनातन संघ की यूथ विंग हिन्दू राष्ट्र पुनर्स्थापना संघ की तरफ से डाली जायेगी। वहीं कल हुई प्रेस कांफ्रेंस में राखी सिंह का नाम याचिका वापसी के लिए आने पर जितेंद्र सिंह बिसेन ने कार्रवाई करते हुए उस प्रेस कांफ्रेस में मौजूद अधिवक्ता सुधीर त्रिपाठी को तत्काल प्रभाव से सभी मुकदमों से निलंबित कर दिया है।

प्रतिवादी का कोर्ट में जवाब देने आये हैं
कोर्ट में सुनवाई में शामिल होने पहुंचे विश्व वैदिक सनातन संघ के प्रमुख जितेंद्र सिंह बिसेन ने कहा कि अंजुमन इंतेज़ामिया मसाजिद कमेटी ने एडवोकेट कमीशन के ऊपर एलिगेशन लगाए हैं। आज हम उसका जवाब देने के लिए आये हैं। दूसरा मुकदमा नंबर 350/21 जिसमें मैं खुद याची हूँ, जिसमे मेरे संगठन और संगठन के बाहर के कई वादी हैं। उस मुदकमे से हम अपने आप को विड्रा कर रहे हैं। उस मुक़दमे में अब हम फ्रेश सूट फ़ाइल करेंगे। साथ ही ज्ञानवापी से सम्बंधित और एक लाट भैरव से सम्बंधित मुकदमें में विश्व वैदिक सनातन संघ के सारे पदाधिकारियों में से कुछ को लेकर सबकी तरफ से एक दो दिन में विड्रा होकर नया केस फाइल होगा। अब केस विश्व वैदिक सनातन संघ की यूथ विंग हिन्दू राष्ट्र पुनर्स्थापना संघ की तरफ से किया जाएगा।

देश विरोधी शक्तियां मेरे विरुद्ध षड्यंत्र रच रहीं
राखी सिंह द्वारा इस मुकदमें से विड्रा करने की बात पर उन्होंने कहा कि ‘यह गलत सूचना है और मेरा, राखी सिंह का या मेरे वकील का ऐसा कोई बयान नहीं है। कुछ लोगों ने अपनी तरफ से ऐसा किया है। राखी सिंह का नाम लेकर इसलिए किया है कि देश विरोधी शक्तियां मेरे विरुद्ध षड्यंत्र रच रहीं हैं। विश्व वैदिक सनातन संघ के खिलाफ षड्यंत्र रच रही हैं। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में अलग-अलग बयान लेकर तोड़-मरोड़ के प्रस्तुत किया गया है। ताकि देश का माहौल बिगड़े।

अधिवक्ता सुधीर त्रिपाठी को किया अपने मुकदमों से निलंबित
जितेंद्र सिंह बिसेन ने कहा कि राखी सिंह विश्व सनातन संघ की फाउंडर मेंबर हैं। इस नाते भी उनका दायित्व है कि वो केस से बाहर नहीं जा सकती। जितेंद्र सिंह बिसेन ने याचिका वापसी लेने की खबर पर कहा कि मैं शासन-प्रशासन से आग्रह करूँगा ये पता लगाए कि मुझे बदनाम करने के लिए ये अफवाह किसने फैलाई। वहीं कल हुई एक प्रेस कांफ्रेंस जिसमें यह बात सामने आयी थी पर उन्होंने कहा कि वह प्रेस कांफ्रेंस मेरे संज्ञान में नहीं थी। उस कांफ्रेंस में हमारे अधिवक्ता सुधीर त्रिपाठी बिना हमें बताये गए थे। इसपर हमने उन्हें आज तत्काल प्रभाव से अपने सभी केसों से निलंबित करते हैं।

Back to top button