नदी से पानी भरना बालक को क्यों पड़ा मेहेंगा…

डे नाईट न्यूज़ । उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में खौफनाक वारदात सामने आई है। शहर के पिनाहट क्षेत्र से सटी मध्य प्रदेश की सीमा पर चंबल नदी में ऐसी घटना हुई जिसे देखकर दिल दहल जाएगा। दरअसल नदी में पानी भरने के लिए 12 साल का बालक गया था। इसी समय बालक पर मगरमच्छ ने हमला कर दिया। नदी में पानी भरने गए 12 साल के बालक को मगरमच्छ ने हमला कर दिया और उसे अपने जबड़ों में जकड़कर नदीं में खींच ले गया। यह देख साथ आया दूसरा बालक चीखने लगा। तब गांववासियों ने लाठी-डंडे से लेकर मगरमच्छ को खदेड़ा।

12 साल के बालक पर मगरमच्छ ने हमला कर दिया और उसे अपने जबड़ों में जकड़ कर खींच ले गया। लाठी-डंडे लेकर घाट पर पहुंचे ग्रामीणों ने मगरमच्छ को खेदड़ा। इसके बाद उसने बालक का छोड़ा, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। बालक की मौत होने से परिवार में कोहराम मच गया। मुरैना जनपद के थाना महुआ के गांव उसैथ में रविवार शाम को आई आंधी के कारण बिजली न आने से पेयजल की परेशानी होने लगी। गांव के छोटेलाल का 12 वर्षीय पुत्र अनिल सोमवार को सुबह एक दूसरे बालक के साथ चंबल नदी में पानी भरने गया था। जब 12 वर्षीय अनिल नदी से पानी भर रहा था तभी मगरमच्छ ने उसका पैर जकड़ लिया। यह देख साथ आया दूसरा बालक चीखने लगा। वहां पर मौजूद लोगों ने लाठी डंडे से मगरमच्छ को भगाया।

अनिल के साथ आया दूसरा बालक चीखने लगा तो मौके पर पहुंचे ग्रामीणो ने अनिल को बचाने की कोशिश की लेकिन तब तक मगरमच्छ ने उसका गला जकड़ लिया। इस घटना की जानकारी होने पर पिनाहट और उसैथ के ग्रामीण वहां पर पहुंच गए। ग्रामीणों ने ईंट-पत्थर मारकर बालक को मगरमच्छ से छुड़ा तो लिया लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। पिनाहट और उसैथ के ग्रामीणों ने बताया कि मगरमचछ करीब दो घंटे तक बालक को अपने जबड़ों में जकड़कर नदी में घूमता रहा, जिससे उसकी मौत हो गई। इस वारदात की सूचना मिलने पर पहुंची थाना महुआ पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि चंबल नदी में मगरमच्छ के हमले की पहले भी घटनाएं हो चुकी है। जिसके बाद से ग्रामीणों में दहशत है। वहीं मृतक बालक के परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

Back to top button