दिल्ली के अलग-अलग इलाकों से अपराधी गिरफ्तार…

डे नाईट न्यूज़ । दिल्ली में अपराध और अपराधी दोनों बेलगाम है, हालांकि दिल्ली पुलिस समय-समय पर इन्हें पकड़ने के लिए अभियान चलाती रहती है। इसी कड़ी में दिल्ली पुलिस ने दिल्ली के अलग-अलग इलाकों से सात अपराधियों को गिरफ्तार किया है।

नजफगढ़ से एक बदमाश गिरफ्तार
नजफगढ़ थाना की पुलिस टीम ने कई आपराधिक मामलों में शामिल रहे एक बदमाश को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है। इसकी पहचान दिलशाद उर्फ मोनू के रूप में हुई है। ये नजफगढ़ के धरमपुरा इलाके का रहने वाला है। पुलिस ने इसके पास से एक देशी कट्टा और एक जिंदा कारतूस बरामद किया है। डीसीपी शंकर चौधरी के अनुसार नजफगढ़ के एसएचओ के मार्गदर्शन में इलाके में पेट्रोलिंग कर रही पुलिस टीम को सूत्रों से एक बदमाश के हथियार के साथ धरमपुरा के उदासीन आश्रम के पास आने की सूचना मिली थी। जिसके बाद एसीपी नजफगढ़ और एसएचओ की देखरेख में हेड कॉन्स्टेबल गंगाधर, परमजीत और कॉन्स्टेबल सुमित की टीम का गठन कर अपराधी को पकड़ लिया गया। पुलिस अपराधी के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर आगे की जांच कर रही है और हथियार के सप्लायर की तलाश में जुट गई है।

मादीपुर चौकी पुलिस ने एक शातिर अपराधी को किया गिरफ्तार
पंजाबी बाग थाने के तहत आने वाले मादीपुर चौकी पुलिस ने एक शातिर अपराधी को गिरफ्तार किया है, जिस पर हत्या, डकैती सहित कई अपराधिक मामले दर्ज हैं। इस शातिर अपराधी पर दिल्ली के बाहर भी कई आपराधिक मामले दर्ज होने का पता चला है। वेस्ट जिले के डीसीपी घनश्याम बंसल से मिली जानकारी के अनुसार 26 अप्रैल को मादीपुर चौकी में तैनात हेड कॉन्स्टेबल रविंदर, कॉन्स्टेबल भोजराम, कॉन्स्टेबल भागीरथ और कॉन्स्टेबल अमित मादीपुर इलाके में चेकिंग कर रहे थे। इस दौरान सीनियर अधिकारियों ने अपराधियों की धरपकड़ के लिए विशेष तरीके से टीम को आगाह किया था ताकि इलाके में अपराधिक वारदातों पर लगाम लगने के साथ-साथ अपराधी प्रवृत्ति के लोग पकड़ में भी आ सकें। उसी के तहत टीम काफी मुस्तैदी से चेकिंग कर रही थी तभी टीम की नजर एक बाइक सवार पर परी जो ऑर्डिनेंस डिपो की तरफ जा रहा था लेकिन पुलिस टीम को देखते ही उसने अपनी बाइक यू-टर्न लेकर भागने की कोशिश की लेकिन मौजूद पुलिसकर्मियों ने फौरन उसे गिरफ्तार कर लिया। अपराधी की पहचान मोहम्मद फहीम के रूप में हुई, जिसके पास से एक देसी पिस्टल और जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। मोटरसाइकिल की जांच की गई तो कीर्ति नगर इलाके से चोरी की निकली। बदमाश पर आर्म्स एक्ट और संबंधित धाराओं के तहत पुलिस ने मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है और आगे की कार्रवाई जारी है।

रोहिणी जिला के विजय विहार पुलिस ने दो झपटमार को धर दबोचा
दिल्ली की रोहिणी जिला के विजय विहार थाना पुलिस ने दो शातिर झपटमार को धर दबोचा है। पुलिस ने इनके कब्जे से दो चोरी के मोबाइल फोन, 5 दोपहिया वाहन और एक बटनदार चाकू बरामद किया है। पुलिस ने दोनों की गिरफ्तारी के बाद 5 मामलों को भी सुलझाने का दावा किया है। दरअसल रोहिणी जिला पुलिस उपायुक्त प्रणव तायल द्वारा मिली जानकारी के अनुसार जिले में बढ़ते अपराध के मद्देनजर विशेष ड्राइव चलाई जा रही है। इसी कड़ी में विजय विहार थाना की टीम भी जगह जगह पेट्रोलिंग कर अपराधियों की धरपकड़ के लिए लगी हुई थी। डीसीपी के मुताबिक पुलिस टीम विजय विहार के लाल क्वार्टर के पास गश्त पर थी। गश्त के दौरान दो शख्स स्कूटी पर सवार आते दिखे, पुलिस ने इन्हे जब रुकने का इशारा किया तो ये भागने लगे। पुलिस टीम ने सक्रियता दिखाते हुए इन्हें धर दबोचा। पुलिस ने जब इनकी तलाशी ली तो इनके पास से दो मोबाइल फोन और एक बटनदार चाकू बरामद हुआ। दोनों की पहचान साहिल खान और साहिल कुमार के रूप में हुई है। दोनों अपराधियों को गिरफ्तार कर पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है।

यमुना बैंक डिपो मेट्रो पुलिस ने कुख्यात मोबाइल चोर को रंगे हाथ पकड़ा
यमुना बैंक डिपो मेट्रो थाना की पुलिस टीम ने मेट्रो में मोबाइल चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले कुख्यात मोबाइल चोर को रंगे हाथों तब पकड़ लिया, जब वो एक मेट्रो यात्री का मोबाइल चुरा कर लक्ष्मी नगर मेट्रो स्टेशन पर ट्रेन से उतर कर भाग रहा था। डीसीपी जितेंद्र मणि के अनुसार, इस मामले में गिरफ्तार आरोपी की पहचान सूरज के रूप में हुई है। ये गाजियाबाद के साहिबाबाद इलाके का रहने वाला है। इसके पास से चोरी किया गया मोबाइल भी बरामद हुआ है। डीसीपी ने बताया कि इस पर मेट्रो के थानों सहित दिल्ली के कई थानों में 25 आपराधिक मामले दर्ज हैं।

कापसहेड़ा पुलिस ने दो सक्रिय ऑटोलिफ्टरों को दबोचा
साउथ वेस्ट जिले की कापसहेड़ा थाने की पुलिस टीम ने ऑटोलिफ्टिंग के दो सक्रिय बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान अजरुद्दीन दीवान और दीपू कुमार के रूप में हुई है। ये दोनों कापसहेड़ा इलाके के रहने वाले हैं। पुलिस ने बताया कि इन्हें एएसआई रविंदर, कॉन्स्टेबल अमरजीत, अनिल लाम्बा और जितेंद कि टीम ने पकड़ा है। पट्रोलिंग के दौरान पुलिस टीम की नजर संदिग्ध बाइक सवारों पर पड़ी। जिस पर पुलिस टीम ने बाइक सवारों को रोक कर पूछताछ की लेकिन संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर पुलिस ने बाइक के नंबर प्लेट के फर्जी और कपसहेड़ा थाना इलाके से चोरी का पचा चला, जिसके बाद पुलिस ने बाइक को जब्त कर दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में उन्होंने और भी ऑटोलिफ्टिंग की वारदातों को अंजाम देने का खुलासा किया। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने 2 बाइक-स्कूटी और बरामद किया। इन मामलों में पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर आगे की जांच में जुट गई है।

Back to top button