एक दिन की बनी थानेदार , दस्तावेज सुधारने का निर्देश…

डे नाईट न्यूज़ । मिशन शक्ति अभियान के तहत बीए की छात्रा मालती को सोमवार को एक दिन के लिए पैलानी थानाध्यक्ष बनाया गया। कुर्सी पर बैठ छात्रा ने टाप टेन अपराधियों की जानकारी लेने के साथ इलाके के गांवों की जानकारी ली। रजिस्टर आठ में दर्ज अपराधों के बारे में जानकारी की। एक प्रार्थना पत्र पर अपने सामने खड़े होकर मुकदमा दर्ज कराया।

थानाध्यक्ष की कुर्सी पर बैठ राजकीय महाविद्यालय की छात्रा मालती ने कई निर्देश दिए। गांवों की जानकारी ली तो बताया गया कि 35 गांव पड़ते हैं। मालती ने थाने से गांवों की दूरी के बारे में जानकारी मांगी तो बताया कि सिंधन खुर्द की दूरी तीन किमी. और पैलानी गांव की दूरी महज पांच सौ मीटर है। मालती ने दस्तावेजों को दुरुस्त किए जाने को लेकर हेड मुहर्रिर राजकुमार को अपराध रजिस्टर में परिणाम को दर्ज करने का आदेश दिया।

महिला अपराध व परिणाम की ली जानकारी

मालती ने पिछले वर्ष के महिला अपराधों के विषय में जानकारी ली। बताया गया कि अभी एक मुकदमा धारा 366 के अंतर्गत महिला के अपहरण का चल रहा है, जो लंबित है, आठ मार्च 2022 में हुई छेड़छाड़ का मुकदमा चार्ज सीट लग जाने के बाद अभियुक्त अभी जेल में है। अपराध रजिस्टर में विवेचक की जगह परिणाम लिखे जाने को लेकर आदेश दिया। अपराधों के बारे में पूछे जाने पर थानाध्यक्ष नंदराम प्रजापति ने बताया कि कुल 94 मुकदमे दर्ज हैं, जिनमें छह मुकदमों पर कार्रवाई की जा चुकी है और 88 मुकदमे अभी भी लंबित हैं। एक दिन की थानेदार ने लंबित मुकदमों को शीघ्र निस्तारित किए जाने के निर्देश दिए।

मुकदमा दर्ज करने के दिए निर्देश

महिला हेल्प डेस्क में कार्यरत बबली चौहान ने बताया कि पीड़िता ने गडो़ला गांव के रावेंद्र द्वारा मारपीट व गाली गलौज किए जाने को जानकारी दी है। मालती ने तत्काल मुकदमा दर्ज किए जाने का निर्देश दिया। बाद में कार्यालय, बंदी गृह के साथ अभिलेखों की जांच की। महाविद्यालय के प्राचार्य डा. विनोद कुमार, सुशील कुमार, डा. भूप नारायण सिंह के साथ महाविद्यालय की छात्राएं कल्पना, मिथलेश, आस्था, करुणा सिंह,आरती व दारोगा राजेंद्र यादव मौजूद रहे।

Back to top button