हेमा मालिनी ने ब्रज 84 कोस की परिक्रमा कर जनानी हकीकत…

-आध्यात्मिक यात्रा कर सांसद जान रहीं हैं कैसे मिलें ब्रज में आने वाले यात्रियों को बेहतर सुविधा

डे नाईट न्यूज़ । प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेत्री और मथुरा से सांसद हेमा मालिनी इन दिनों आध्यात्मिक यात्रा पर हैं। वह ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष के साथ सांसद ब्रज 84 कोस परिक्रमा कर रही हैं। इस यात्रा के दौरान वह यह भी देख रही हैं कि यात्रियों को और बेहतर सुविधा कैसे दी जा सकती है।
हेमा मालिनी 2014 में पहली बार सांसद बनीं। इसके बाद से वह लगातार मथुरा के धार्मिक विकास को लेकर प्रयासरत रहती हैं। इन दिनों सांसद हेमा मालिनी ब्रज 84 कोस की परिक्रमा कर रही हैं। पहली बार ब्रज यात्रा करने निकली हेमा मालिनी इस दौरान पड़ाव स्थलों पर किए गए कार्य का निरीक्षण भी कर रही हैं।
सांसद हेमा मालिनी ने ब्रज 84 कोस यात्रा करने की जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर की। सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म पर शेयर की गई पोस्ट में सांसद ने बताया कि वह पहली बार ब्रज 84 कोस की यात्रा कर रही हैं। इस दौरान वह यह भी देख रहीं हैं कि 84 कोस यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं को और अधिक बेहतर सुविधा कैसे मिल सकती हैं? उसको राज्य व केन्द्र सरकार को अवगत कराकर विस्तृत प्लान तैयार कराएंगी। ताकि उसको धरातल पर उतारा जा सके। उससे ब्रज यात्रा करने वाले यात्री लाभांवित हो सकें।
सांसद 24 अप्रैल तक चलने वाली इस यात्रा के दौरान सुबह से शाम तक सांसद ब्रज के विभिन्न तीर्थ स्थलों पड़ाव स्थलों से रूबरू हो रहीं हैं।इस दौरान उनके साथ ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजा कांत मिश्र एवं अन्य अधिकारी भी चल रहे हैं।

ब्रज 84 कोस यात्रा यह है
ब्रज 84 कोस यानी वह स्थान जहां भगवान श्रीकृष्ण ने बाल लीला की। भगवान श्रीकृष्ण ब्रज में जन्म से लेकर 11 साल 52 दिन तक रहे। इस दौरान भगवान कृष्ण ने यहां कई लीलाएं कीं। भगवान ने यहां मथुरा में जन्म लिया, तो वृंदावन में रास रचाया। गोकुल में पालना झूले, तो नंदगांव में नंदोत्सव मनाया। कई अन्य स्थानों पर भगवान ने कंस के भेजे राक्षसों का वध किया, तो कई स्थानों पर उन्होंने लीला के माध्यम से आध्यात्मिक ज्ञान दिया। ब्रज 84 कोस का बड़ा हिस्सा यूपी के मथुरा में आता है, तो कुछ हिस्सा हरियाणा के पलवल और राजस्थान के भरतपुर जिले में भी आता है।

Back to top button