जिलाधिकारी ने कहा योजनाओं का लाभ ग्रामीण क्षेत्रों में आम जनता तक भी पहुंचायें…

डे नाईट न्यूज़ । जिलाधिकारी हर्षिता माथुर ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुये कहा कि शासकीय योजनाओं का लाभ ग्रामीण क्षेत्रों में आम जनता तक अवश्य पहुंचना चाहिये। एसडीएम के माध्यम से आंगनबाड़ी केन्द्रों के लिये जगह का चिन्हांकन शीघ्र करा लिया जाये। शासन को भेजे गये 113 आंगनबाड़ी केन्द्रों के प्रस्ताव के सापेक्ष अब तक 25 आंगनबाड़ी केन्द्रों की स्वीकृति मिल चुकी है।
जिलाधिकारी ने कहा कि शासन द्वारा विद्यालयों में पोषण वाटिका बनवाने पर निरंतर जोर दिया जा रहा है। जिन विद्यालयों में पर्याप्त स्थान है, उन विद्यालयों में पोषण वाटिका अवश्य बनवाई जाये। समीक्षा के दौरान पाया गया कि जनपद में 1372 बच्चे कुपोषित चिन्हित किये गये थे। इनमें से 1118 बच्चे ठीक होकर सुपोषित हो चुके हैं।
बैठक में समाज कल्याण विभाग के लक्ष्यों की विस्तार से समीक्षा की गई। आधार सीडिंग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि 12321 वृद्वावस्था पेंशन लाभार्थी थे, इनकी पेंशन भेज दी गई है। इसके अतिरिक्त 5794 नये पेंशन लाभार्थी जुड़े हैं, इनकी पेंशन अबकी बार जायेगी। पूर्वदशम और दशमोत्तर कक्षाओं की छात्रवृत्ति छात्र छात्राओं के बैंक खातों में भेजी जा चुकी है। बैठक में बताया गया कि 55 पात्र दिव्यांगजनों को शीघ्र ही मोटराइज्ड ट्राई साइकिलों का वितरण किया जायेगा।
अभ्युदय योजना अब तक मण्डल स्तर पर संचालित थी, अब यह योजना समस्त जनपदों में संचालित की जायेगी। कासगंज के के0ए0 कालेज में कक्षायें संचालित होंगी। इस योजना में पढ़ाने वाले शिक्षकों को मानदेय भी दिया जायेगा। इस योजना के तहत 123 बच्चे विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये पंजीकृत हैं। सबसे अधिक यूपीएससी, यूपी पीसीएस के लिये 82 छात्र छात्रायें तैयारी कर रहे हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि सब्जेक्ट निश्चित करते हुये वैच बनायें और अच्छे शिक्षकों का चयन कर और बेहतर ढंग से योजना को संचालित किया जाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी तेज प्रताप मिश्र, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अनिल कुमार, डीआईओएस, प्राचार्य डायट, बीएसए, अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी व जिला कार्यक्रम अधिकारी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

Back to top button