पत्रकार उत्पीड़न के खिलाफ मुखर हुआ महा ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन,सौपा ज्ञापन

गाजीपुर। महा ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन गाजीपुर का एक प्रतिनिधिमंडल ने यूपी बोर्ड परीक्षा में बलिया जनपद के पत्रकारो को पेपर लीक के मामले में खबर चलाने के बाद जेल भेज दिया, के मामले में जिला अधिकारी/ प्रभारी अधिकारी (प्रतिभा मिश्रा, एसडीएम) गाजीपुर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा और बताया कि अब ऐसा लगता है कि देश का चौथा स्तंभ खतरे में है। जिम्मेदार अधिकारी जिनकी निगरानी में पेपर का रखरखाव था उनसे कोई जवाब तलब या उनके ऊपर दोषारोपण नहीं किया जाता, बदले में चौथा स्तंभ यानी कि पत्रकारों को जेल में ठूस दिया गया। यहां प्रश्न चिन्ह स्थानीय शासन प्रशासन पर उठना लाजमी हो गया है कि यह किसकी साजिश थी या किसी को बचाया जा रहा था ? इन सवालों से पर्दा आने वाले समय पर ही उठ पाएगा। देश एवं प्रदेश के अलग-अलग जनपदों से पत्रकारों के गुस्से का गुबार अब प्रतिक्रिया के रूप में आने शुरू हो गए हैं। इसी क्रम में महा ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन गाजीपुर ने आलोचना करते हुए। माननीय मुख्यमंत्री जी से मांग करता है कि पत्रकारों को फर्जी मुकदमे में न फंसाया जाय। फर्जी मुकदमे तत्काल वापस लिया जाए तथा जो अधिकारी पत्रकारों की कलम को कमजोर करना चाहते है उन अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही हो। ऐसे मामलों में अगर कार्यवाही नहीं होती है तो महा ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन मजबूर होकर आंदोलन के साथ-साथ खबरों का बहिष्कार करने सहित अनेक निर्णय लेने के लिए बाध्य हो सकता है ।

Back to top button