नये वित्त वर्ष के पहले दिन बाजार की शानदार शुरूआत, सेंसेक्स 708 अंक उछलकर जानिए कितने स्तर पर हुआ…

डे नाईट न्यूज़। नये वित्त वर्ष के पहले दिन शेयर बाजार की शुरूआत शानदार रही। वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख के बीच चौतरफा लिवाली से बीएसई सेंसेक्स 708 अंक से अधिक उछलकर 59,000 के स्तर को फिर से प्राप्त कर लिया।

कारोबारियों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों की लिवाली और सकारात्मक वृहत आर्थिक आंकड़ों से भी बाजार को समर्थन मिला।

वित्त वर्ष 2022-23 के पहले दिन तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 708.18 अंक यानी 1.21 प्रतिशत उछलकर 59,276.69 पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय यह 828.11 अंक यानी 1.41 प्रतिशत बढ़कर 59,396.62 तक चला गया था।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 205.70 अंक यानी 1.18 प्रतिशत चढ़कर 17,670.45 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के तीस शेयरों में से एनटीपीसी का शेयर सबसे अधिक 5.93 प्रतिशत चढ़ा। इसके अलावा, पावर ग्रिड, इंडसइंड बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, एचडीएफसी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, एचडीएफसी बैंक, बजाज फाइनेंस और मारुति में भी प्रमुख रूप से तेजी रही।

केवल पांच शेयर टेक महिंद्रा, सन फार्मा, डॉ. रेड्डीज, टाइटन और इन्फोसिस 0.80 प्रतिशत तक नुकसान में रहे।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘नये वित्त वर्ष 2022-23 में बाजार की शुरूआती अच्छी रही। शुरूआत हल्की और वैश्विक बाजारों के अनुरूप रही। लेकिन कारोबार आगे बढ़ने के साथ बाजार में तेजी गति पकड़ी और बैंक, बिजली तथा रियल्टी जैसे क्षेत्रों में लिवाली बढ़ी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मंत्रिमंडल के वृहत बिजली नीति को मंजूरी, कच्चे तेल के दाम में कमी…से तेजी को बल मिला। रूस-यूक्रेन युद्ध, कच्चे तेल की चाल और अगले सप्ताह रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक निकट भविष्य में बाजार की चाल को तय करेगी।’’

साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 1,914.49 अंक यानी 3.33 प्रतिशत जबकि निफ्टी 517.45 अंक यानी 3.01 प्रतिशत चढ़ा।

कोटक सिक्योरिटीज लि. के इक्विटी शोध प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा, ‘‘घरेलू शेयर बाजार ने इस सप्ताह सकारात्मक रिटर्न दिये। रूस-यूक्रेन बाचीत में प्रगति के बीच वैश्विक स्तर पर भी इक्विटी बाजार मोटे तौर पर मजबूत रहे। दूसरी तरफ, जिंसों के दाम में कुछ सुधार हुआ। भारत में, बाजार व्यापक स्तर पर लाभ में रहा। ज्यादातर खंडवार सूचकांक सकारात्मक दायरे में रहे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इस सप्ताह कच्चे तेल के दाम में सुधार आया और यह आयात पर निर्भर भारत जैसे देशों के लिये सकारात्मक है।’’

पूरे वित्त वर्ष 2021-22 में बीएसई सेंसेक्स 9,059.36 यानी 18.29 प्रतिशत और एनएसई निफ्टी 2,774.05 अंक यानी 18.88 प्रतिशत मजबूत हुए।

एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और जापान का निक्की नुकसान में जबकि चीन का शंघाई कंपोजिट सूचकांक और हांगकांग का हैंगसेंग लाभ में रहे।

रूस-यूक्रेन बातचीत का सकारात्मक परिणाम आने की उम्मीद में यूरोप के प्रमुख बाजारों में दोपहर कारोबार में तेजी का रुख था।

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.22 प्रतिशत बढ़कर 104.94 डॉलर प्रति बैरल रहा।

शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक शुद्ध लिवाल रहे। उन्होंने बृहस्पतिवार को 3,088.73 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे।

बृहस्पतिवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, कोयला, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद और सीमेंट उद्योग के बेहतर प्रदर्शन से आठ बुनियादी उद्योगों के उत्पादन में फरवरी में 5.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जो चार महीने का उच्च स्तर है।

Back to top button