इंडियन ऑयल की नयी तरकीब : श्रीलंका में बिजली संकट कम करने के उपाए…

डे नाईट न्यूज़। सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) श्रीलंका को 6,000 टन डीजल जारी करेगी। देश में बिजली कटौती में कमी लाने के इरादे से यह कदम उठाया गया है। श्रीलंका विदेशी मुद्रा की कमी के कारण इस समय आर्थिक और ऊर्जा संकट से गुजर रहा है।

देश में बृहस्पतिवार को 13 घंटे से अधिक बिजली की कटौती हुई। यह 1996 के बाद सर्वाधिक है जब बिजली कंपनी के कर्मचारियों की हड़ताल के कारण 72 घंटे बिजली नहीं आयी थी।

सरकार ने बिजली उत्पादन के लिये ईंधन उपलब्ध नहीं होने से बुधवार को देशभर में बिजली कटौती सात घंटे से बढ़ाकर 10 घंटे कर दी।

बिजली कटौती में कमी लाने के प्रयास के तहत सरकार ने सरकारी कंपनी सिलोन इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड (सीईबी) को आईओसी की श्रीलंका में अनुषंगी एलआईओसी से डीजल खरीदने का निर्देश दिया है।

सीईबी के अधिकारियों ने कहा कि एलआईओसी तापीय बिजली इकाइयां चालू करने के लिये 6,000 टन डीजल जारी करने को राजी हो गया है ताकि बिजली कटौती में दो घंटे की कमी लायी जा सके।

श्रीलंका में इस महीने की शुरुआत से सात-सात घंटे बिजली की कटौती हो रही है।

प्रमुख वस्तुओं की कीमतों में अचानक वृद्धि और ईंधन की कमी के कारण हजारों लोगों को पेट्रोल पंपों के बाहर घंटों कतार में खड़ा होना पड़ रहा है। विदेशी मुद्रा संकट के कारण आयात प्रतिबंधों से भी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति प्रभावित हुई है।

Back to top button