योग साधना भारतीय अचार संहिता की वैदिक थाती है *आईजीएल बिजनेस हेड एस के शुक्ल*

डे नाइट न्यूज ब्यूरो चीफ संजय कुमार यादव की रिपोर्ट

जनपद गोरखपुर दिनांक 31/03/2022

Day Night News
Netional News Network
GORKHAPUR

आज आर्ट ऑफ लीविंग के संस्थापना वर्ष के चालीसवें बर्षगाँठ के पवित्र अवसर पर आइंजीएल के बिजनेस हेड के सन्देश पर कम्पनी के प्रबन्धक प्रशासन डॉ सुनील कुमार मिश्रा के प्रयास से आईजीएल के कॉन्फ्रेंस हॉल में योग शिविर का शानदार आयोजन हुआ।कम्पनी के बिजनेस हेड ने फीता काट कर समारोह का भव्य उद्घाटन किया । बतौर मुख्य अतिथि श्री शुक्ल ने श्री श्री रविशंकर को याद करते हुए उन्हें एक महान मनीषी का अवतार बताया और कहा कि दुनिया की वेचैनी,घबराहट , भागमभाग की आपाधापी के विच श्री श्री का प्रयास एक देवदूत की तरह जीवन जीने की कला सिखाने का अभीनन्दनीय प्रयास है,वो स्वयं श्री श्री से प्रभावित होकर सुदर्शन क्रिया नित्य प्रति दिन करते हैं।आज आइंजीएल के जनजन को भी योग साधना को अपनाने की जरूरत पर बल देते हुए समाज के हर व्यक्ति के लिए इसे वरदान बताया। आर्ट ऑफ लीविंग के साधक श्री मनीष मिश्रा जी ने आज इंडिया ग्लाइकोल लिमिटेड के तत्वाधान में योग शिविर को प्रशिक्षण दिलाते हुए योग साधना की महत्ता पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए इसे जनजन के लिए सँजीवनि बताया। योग साधना का दौर एक घण्टे से भी अधिक सफलता पूर्वक चला । सभी के लिए आज का दिन एक खूबसूरत सुबह जैसा रहा। कार्यक्रम में बृजमोहन शर्मा,शैलेशचंद, शैलेन्द्र पांडेय, आशीष गुप्ता,अजित त्रिपाठी,आर सी शुक्ला, शिवानी,अमित पांडेय ,के एल चौहान,अजय तिवारी,अजय पांडेय,मणि त्रिपाठी, अखिलेश शुक्ला,डॉ के के सिंह सहित सैकड़ों कर्मयोगियों ने लाभ लिया।कार्यक्रम का संचालन आत्मा नन्द सिंह व आभार डॉ सुनील कुमार मिश्रा ने किया

Back to top button