बाइक सवार बदमाशों ने नाबालिग को दिनदहाड़े मारी गोली…

डे नाईट न्यूज़। नरेला इलाके में उस समय दहशत का माहोल बन गया जबकि अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने मंगलवार दोपहर एक नाबालिग को गोली मार दी। पुलिस ने पीडि़त के बयान बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस शुरूआती जांच में आपसी रंजिश की ही आशंका जाहिर कर रही है।

जानकारी के मुताबिक घायल नाबालिग की पहचान बांकनेर के रहने वाले प्रतीक के रूप में हुई है। वह सरकारी स्कूल से दसवीं कक्षा की पढ़ाई कर रहा है। मंगलवार दोपहर को नरेला पुलिस को बांकनेर गांव में टयूबवेल के पास युवक को गोली मारने की पीसीआर कॉल मिली थी। पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची। प्रतीक को तुरंत एंबुलेंस से सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने प्रतीक की हालत गंभीर बताई।

जिसके बाद उसे दूसरे अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया। बताया गया कि वारदात के वक्त प्रतीक अकेला घर से अपने खेत में टयूबल पर नहाने के लिये निकला था। जैसे ही घर से कुछ दूरी पर गया। अचानक बाइक सवार बदमाशों ने उसको रोका और उसपर दो राउंड गोली चला दी। एक गोली प्रतीक के होटों के नीचे की तरफ टच होती हुई निकल गई। गोली लगते ही प्रतीक सडक़ पर गिर गया। जबकि वारदात के बाद आरोपी मौके पर से फरार हो गए।

राहगीरों ने उसके परिवार और पुलिस को वारदात की जानकारी दी थी। पुलिस को मौके पर से दो कारतूस के खोल बरामद हुए हैं। पुलिस वारदात के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। हमलावर कौन थे यह अभी तक साफ नहीं हो पाया है। परिवार ने किसी के साथ झगड़ा यार रंजिश होने से भी मना किया है। परिवार वालों का कहना है कि प्रतीक अभी 16 साल का भी पूरा नहीं हुआ है। उस बच्चे की किसी से क्या दुश्मनी रही होगी।

वारदात के बाद से परिवार वाले काफी दहशत में हैं। उनका पहले कभी किसी से कोई दुश्मनी तक नहीं हुई है। जब तक पुलिस हमलावरों का पकड़ नहीं लेती है। तब तक परिवार दहशत के साए में जीने को ही मजबूर रहेगा। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हमलावरों को कुछ लोगों ने देखा भी था। जिनसे पूछताछ की जा रही है। साथ ही जहां पर वारदात हुई। उसके पास ही स्थित एक बैंक के सीसीटीवी कैमरों और कुछ अन्य दुकानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को कब्जे में लिया है। जिसमें संदिगध दिखाई दिये हैं।

जिनकी पहचान कर उनके ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। इस मामले में प्रतीक के बयान लेने की कोशिश की जा रही है। उसके फोन की भी डिटेल खंगाली जा रही है। जिससे पता लग सके कि उसको क्या फोन कर किसी ने बाहर बुलाया था। उसके दोस्त से भी पूछताछ की जा रही है। जिस तरह से वारदात हुई है। उससे लगता है कि आरोपी इलाके के ही रहने वाले हैं। जिनको पता था कि प्रतीक घर से निकल रहा है। जिसके लिये वह पहले से ही घात लगाकर बाइक पर पिस्टल लेकर उसका घर से बाहर निकलने का इंतजार कर रहे थे। बदमाशों को इलाके के बारे में पूरी जानकारी थी। तभी वह वारदात के बाद फरार होने में कामयाब हो गए।

Back to top button