दिल्ली सरकार ने वादा पूरा करके दिखाया किये नए अन्य कार्य पूरे…

डे नाईट न्यूज़। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार ने जो वादा किया था उसे पूरा करके दिखाया है। सिसोदिया ने शुक्रवार को विधानसभा में 2021-22 के लिए आउटकम बजट की स्टेटस रिपोर्ट की प्रतियां सदन में पेश करते हुए कहा कि केजरीवाल सरकार देश की एकमात्र ऐसी सरकार है जो आउटकम बजट के द्वारा पिछले 5 सालों से लगातार अपने किए गए कार्यों और सार्वजनिक व्यय को पूरी पारदर्शिता के साथ जनता के सामने रखती आ रही है। इस मौके पर सिसोदिया ने कहा कि देश की आजादी के 75 सालों में भारत में बहुत सी सरकारें आई लेकिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्त्व में दिल्ली सरकार एकमात्र ऐसी सरकार है जिसने खुद की जवाबदेही तय करते हुए इस परम्परा की शुरुआत की है।

क्या है आउटकम बजट
जब सरकार किसी योजना की शुरुआत करती है और बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर व पूंजीगत व्ययों के लिए धन आवंटित करती है तो यह आउटपुट होता है। लेकिन आउटकम से अभिप्राय उस योजना से लोगों को मिलने वाले लाभ से है। उदाहरण के लिए सरकार एक अस्पताल में एक एक्स-रे मशीन स्थापित करती है तो ये सरकार का आउटपुट है लेकिन उस मशीन के माध्यम से कितने लोगों की जांच हुई ये उसका आउटकम है।

आउटकम बजट की झलकियां
सिसोदिया ने कहा कि इस बजट में शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया गया है। केजरीवाल सरकार ने पिछले बजट में स्कूलों में नए कमरे बनाने की बात की थी। जिसे दिल्ली सरकार ने पूरा किया। स्कूलों में 13,181 कमरे बनाकर तैयार किए गए हैं। दिल्ली सरकार के स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या 15 लाख से बढ़कर 18 लाख हुई है। दिल्ली सरकार के स्कूलों में देशभक्ति पाठ्यक्रम की शुरुआत की गई है। देश में ऐसा पाठ्यक्रम शुरू करने वाली दिल्ली देश का पहला राज्य है। उन्होंने कहा कि अगले सत्र से निजी स्कूलों में भी देशभक्ति करिकुलम शुरु किया जाएगा। सरकारी स्कूलों में 11वीं-12वीं के छात्रों के लिए बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम की शुरुआत हुई। जिसमें तीन लाख बच्चों ने अपने 51,000 से अधिक टीम्स बनाकर भाग लिया और 126 शानदार बिजनेस आइडियाज के साथ एक्सपो का आयोजन किया गया। इन आइडियाज में देशभर से आए निवेशकों ने करोड़ों के इनवेस्टमेंट ऑफर दिए।

सिसोदिया ने कहा कि उच्च शिक्षा को मजबूत करने के लिए काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार ने पिछले बजट सत्र में दिल्ली में स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी शुरू करने की बात की। इसकी तैयारियां जोरों पर हैं और वर्ल्ड-क्लास स्पोर्ट्स इंफ्रास्ट्रक्चर से लैस कैंपस बनाने का काम शुरू हो चुका है। दिल्ली सरकार ने टीचर्स यूनिवर्सिटी की भी शुरुआत की है जो अपने सिटी कैंपस में शुरू हो चुका है और मेन कैंपस भी जल्द शुरू हो जाएगा। आने वाले सत्र से यूनिवर्सिटी में दाखिले भी शुरू हो जाएंगे।

उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार ने मेरिट-कम-मीन्स प्रोग्राम के तहत बजट वर्ष 2020-21 में उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे 3700 प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को छात्रवृति प्रदान की थी। जबकि बजट वर्ष 2021-22 में 7000 विद्यार्थियों को इस छात्रवृति के माध्यम से 48 करोड़ रुपये दिए गए। उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिए फ्री बस यात्रा स्कीम के तहत 3 करोड़ पिंक टिकट वितरित किए हैं। ई-व्हीकल पॉलिसी को प्रोत्साहित किया गया है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार ने वादा किया था कि देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर पूरी दिल्ली को तिरंगामय करते हुए दिल्ली में 500 तिरंगा लहराया जाएगा। अबतक 125 तिरंगे लग चुके हैं। 30 अप्रैल तक 200 तिरंगे और लगाए जाएंगे । सिसोदिया ने कहा कि पिछले वर्ष दिल्ली में 1.5 लाख सीसीटीवी लगाने का लक्ष्य था। जिसके तहत दिसम्बर तक 1.33 लाख सीसीटीवी कैमरा लग चुके हैं।

Back to top button