आतिशी ने कहा एकीकरण तो बहाना है, बीजेपी को चुनाव में हार का डर सता रहा है…

डे नाईट न्यूज़ । केंद्रीय कैबिनेट ने तीनों नगर निगम के एकीकरण को मंजूरी दे दी है। इस पर आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और कालकाजी से आप विधायक आतिशी ने बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि एकीकारण तो केवल एक बहाना है। बीजेपी को निगम चुनाव में हार का डर सता रहा है। इस दौरान उन्होंने कहा कि जब चुनाव का वक्त आ गया तो इन्हें एकीकरण की याद क्यों आई, एकीकरण तो कभी भी किया जा सकता है। आतिशी ने कहा कि राज्य निर्वाचन आयोग ने नौ मार्च को चुनाव की तारीख घोषित करने के लिए प्रेस वार्ता बुलाई थी, लेकिन आखिरी वक्त पर चुनाव की तारीख नहीं घोषित की गई। यह साफ दर्शाता है कि बीजेपी चुनाव से किस तरह से घबरा गई है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि आज अगर चुनाव होता है तो दिल्ली की जनता आम आदमी पार्टी को 250 सीटों पर विजयी बनाने जा रही है। विधायक आतिशी ने केंद्रीय कैबिनेट में तीनों नगर निगम को एक करने के प्रस्ताव को मिली मंजूरी पर कहा कि एकीकरण का समय काफी सवाल खड़ा करता है। निगम में पिछले 15 साल से बीजेपी सत्ता में है। उन्होंने कहा कि एमसीडी के अगर तीन हिस्से होने से शासन करने में इतनी परेशानी हो रही थी तो यह मुद्दा आज से पहले क्यों नहीं उठाया गया। तीनों नगर निगम को एक करने का ख्याल बीजेपी को तब क्यों आया जब राज्य निर्वाचन आयोग ने तारीख घोषणा करने के लिए प्रेस वार्ता बुलाई हुई थी। यह अपने आप में सवाल खड़ा करता है कि बीजेपी चुनाव से किस तरीके से डर गई है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी एकीकरण का विरोध नहीं कर रही है। आतिशी ने कहा कि आप एमसीडी का चुनाव जीतने जा रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता एमसीडी की सत्ता पर काबिज बीजेपी से परेशान है। बीजेपी ने दिल्ली की जनता को 15 साल में केवल कूड़ा और भ्रष्टाचार ही दिया है। लेकिन अब दिल्ली की जनता ने मन बना लिया है कि वह एमसीडी में भी केजरीवाल की सरकार बनाएंगे जिससे कि दिल्ली का संपूर्ण विकास हो सके। हम नगर निगम चुनाव को समय पर कराने के लिए सड़क से लेकर कोर्ट और संसद में भी आवाज उठाएंगे। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की मांग है कि निगम का चुनाव समय पर हो। साथ ही कहा कि अगर आज एमसीडी का चुनाव होता है तो 250 से अधिक सीटों पर आप जीत दर्ज करने जा रही है। बीजेपी को इसी का डर सता रहा है और वह एकीकरण का बहाना बनाकर चुनाव को टाल रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि अगर यह चुनाव स्थगित हो जाता है तो यह लोकतंत्र के लिए काला अध्याय होगा। इससे पहले 1975 में हार की डर की वजह से देश ने आपातकाल को देखा है।

Back to top button