दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी ने श्रद्धा व उत्साह के साथ मनाया होला मोहल्ला

डे नाईट न्यूज़ । दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने पूरी श्रद्धा व सम्मान के साथ होला मोहल्ला मनाया। इस मौके पर अलग-अलग गुरुद्वारों में कीर्तन दरबार तथा गुरमति समागम आयोजित करवाये गये। मुख्य समागम गुरुद्वारा दमदमा साहिब में आयोजित किया गया जहां बड़ी संख्या में संगत नतमस्तक हुईं। इस समागम को संबोधित करते हुए दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के अध्यक्ष स. हरमीत सिंह कालका और महासचिव स. जगदीप सिंह काहलों ने कहा कि होला मोहल्ला सिखों की चढ़दीकला और शौर्य का प्रतीक है जिसे सिख कौम गुरु गोबिंद सिंह जी के आदेश अनुसार पूरी श्रद्धा व उत्साह के साथ मनाती है। कालका और कहलों ने कहा कि जहां पूरे भारत में लोग होली मनाते हैं, वहीं सिख लोग होला मोहल्ला मनाते हैं। उन्होंने कहा कि इस दिन गुरु साहिबान द्वारा दिए गए आशीर्वाद के कारण गुरु की सिख फौज गतका खेल के माध्यम से अपनी बहादुरी के जौहर दिखाती हैं तथा इस सिख मार्शल आर्ट को दुनिया बड़े चाव से देखती है। दोनों नेताओं ने कहा कि रंगों का यह त्योहार हर व्यक्ति के जीवन में नए रंग और आकांक्षाएं लेकर आता है। उन्होंने कहा कि हम आज सही तरीके से होला मोहल्ला तभी मना सकते हैं, जब हम गुरु साहिब के आदेश का पालन करें उसकी रज़ा में रहें और गुरबाणी से जुड़कर संगत की सेवा करें। जरूरतमंदों के हाथ पकड़ें और मानवता के लिए वह सभी कार्य करें जिसकी मानवता को बहुत जरूरत है। स. कालका और स. कहलों ने कहा कि जिस प्रकार अब कोरोना महामारी का अंत हो रहा है, वह दुनिया के लिए एक अच्छा संकेत है लेकिन इस दो साल की महामारी के दौरान सिखों ने दुनिया को दिखाया है कि गुरु साहिबान के दर्शाए मार्ग पर चलकर हम कैसे मानवता की सेवा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि गुरु साहिब के बताए रास्ते पर चलकर ही हम सही तरीके से होला मोहल्ला मना सकते हैं। इस समागम में दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के पदाअधिकारी, सदस्य और बड़ी संख्या में संगत मौजूद रही।

Back to top button