पिस्तौल के बल पर वृद्ध महिला से लूट पाट की वारदात,दो आरोपित को किया पुलिस ने गिरफ्तार गिरफ्तार…

डे नाईट न्यूज़। घर में घुसकर देसी पिस्तौल के बल पर 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला के साथ की गई लूट के मामले में थाना पल्ला की टीम ने तुरंत कार्रवाई करते हुए मात्र 2 घंटे में आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपितों की पहचान 23 वर्षीय रामविलास और 40 वर्षीय विष्णु दत्त के रूप में हुई है। रामविलास उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले का रहने वाला है, जो पलवल के देवली में रह रहा था। वहीं विष्णु दत्त उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर का रहने वाला है, जो सूरदास कॉलोनी में ही रहता था। आरोपित फरीदाबाद में किसी फैक्टरी में एक साथ काम करते हैं। मंगलवार दोपहर सूरदास कॉलोनी स्थित एक मकान में एक 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला कमलेश अपने पोता-पोती के साथ मौजूद थी। घर के अन्य सदस्य काम से बाहर गए हुए थे। दोनों आरोपित अपने चेहरे को नकाब से ढककर घर में घुसे और बुजुर्ग महिला पर पिस्तौल तान दी। पिस्तौल के बल पर आरोपित घर से सोने की चार चूड़ियां, एक जोड़ी कान की बाली तथा 4400 रुपये नकद लेकर फरार हो गए।

महिला ने इसकी शिकायत पुलिस थाना पल्ला में दी जिसके बाद शिकायत पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस टीम मौके पर पहुंची। एसीपी देवेंद्र यादव ने थाना प्रभारी योगेश कुमार के साथ पहुंचकर मौका मुआयना किया तथा आसपास के सीसीटीवी खंगालकर लोगों से पूछताछ की। मामले में आगे की कार्रवाई करते हुए पुलिस टीम ने गुप्त सूत्रों व तकनीकी की सहायता से दोनों आरोपियों को सूरदास कॉलोनी में ही स्थित आरोपी विष्णु दत्त के मकान से दोनों को काबू कर लिया। आरोपितों के कब्जे से लूटे गए सोने के आभूषण, नकद राशि तथा वारदात में प्रयोग देसी पिस्तौल बरामद किया गया है।

पूछताछ में पता चला है कि रामविलास इस वारदात का मुख्य आरोपित है। उसका अपने गांव में किसी के साथ झगड़ा चल रहा था जिसकी रंजिश के तहत दूसरे पक्ष ने आरोपित रामविलास के पिता की हत्या कर दी थी जिसका बदला लेने के लिए आरोपित रामविलास पैसे इकट्ठा कर रहा था और देसी पिस्तौल भी वही खरीद कर लाया था। दूसरा आरोपित विष्णु दत्त पर काफी कर्जा था जिसे उतारने के लिए वह लूट की वारदात में शामिल हो गया। आरोपितों ने बताया कि वह 10-12 दिन से मकान की रेकी कर रहे थे। उन्हें पता था कि घर के सदस्य काम पर चले जाते हैं जिसके बाद बुजुर्ग महिला और बच्चे मकान में अकेले होते हैं जिन्हें आसानी से डरा धमका कर उनके साथ लूट की वारदात को अंजाम दिया जा सकता है। दोनों आरोपित योजना के तहत घर में घुसे और लूट की वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। पुलिस टीम द्वारा इस मामले में गहनता से पूछताछ की जा रही है जिसके पश्चात आरोपितों के खिलाफ कानून के तहत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Back to top button