आप विधायक आतिशी ने कहा भाजपा ने हार के डर से टाले निगम चुनाव

डे नाईट न्यूज़ । आम आदमी पार्टी के नगर निगम प्रभारी दुर्गेश पाठक ने शनिवार को कहा कि हार के डर से भाजपा ने दिल्ली नगर निगम चुनाव को टाला है, उन्होंने कहा कि देश का लोकतंत्र खतरे में है। दुर्गेश पाठक ने कहा कि दिल्ली में नगर निगम के चुनाव होने वाले थे। नौ मार्च को शाम पांच बजे दिल्ली के चुनाव आयोग ने मीडिया को बुलाया। हर जगह यही खबर थी कि वह चुनाव की आचार संहिता निकाल चुके हैं और नौ मार्च को चुनाव की तारीख की घोषणा होने वाली थी। लेकिन उसी शाम प्रेसवार्ता में एसके श्रीवास्तव आकर कहते हैं कि उन्हें थोड़ी देर पहले केंद्र सरकार से एक चिट्ठी मिली है, जिसमें कहा गया है कि वह तीनों निगमों को एक करना चाहते हैं, इसलिए फिलहाल चुनाव को टाल दिया जाए।

आप विधायक आतिशी ने कहा कि यह लोकतंत्र के अंत की शुरुआत है, हार के डर से आज निगम चुनाव टाला गया है, कल राज्य के चुनाव भी टाले जा सकते हैं। यदि केंद्र सरकार निगमों का एकीकरण चाहती है तो वह चुनाव के बाद भी संभव है, आज हम तीन हाउस में बैठते हैं, छह महीनों बाद एक हाउस में बैठ सकते हैं। आप विधायक आतिशी ने कहा कि जैसा कि हम सब जानते हैं और हम सबको इस बात पर फक्र है कि भारत एक लोकतंत्र है। लोकतंत्र, जहां जनता का शासन चलता है। चाहे कोई अमीर हो या गरीब हो, चाहे किसी धर्म का हो या किसी जाति का हो, उसे पांच साल में एक बार मतदान करने का मौका मिलता है। वह जिस पार्टी या जिस नेता को चाहे, उठाकर बाहर फेंक सकता है। लेकिन वही लोकतंत्र अब खतरे में नजर आ रहा है। आतिशी ने कहा कि टीएन शेषन जैसे लोग इस देश में मुख्य चुनाव आयुक्त रहे हैं। ऐसे लोग चुनाव आयोग को इतनी ऊंचाई पर ले गए कि देश और पूरी दुनिया में भारत के चुनाव आयोग पर कभी कोई सवाल नहीं उठा सकता। लेकिन आज चुनाव आयोग की निष्पक्ष चुनाव करवाने की योग्यता पर सवाल उठ रहे हैं।

Back to top button