चीन ने रूस की मदद करने से किया इंकार ऐसे में अब रूस की उम्मीद भारत से है

बोइंग और एयरबस द्वारा कलपुर्जों की आपूर्ति रोकने के बाद रूस ने चीन की ओर रुख किया था लेकिन चीन ने रूसी एयरलाइंस को विमान के पुर्जों की आपूर्ति करने से इनकार कर दिया है। ऐसे में यूक्रेन के साथ जारी युद्ध के बीच चीन ने रूस की मदद करने से इनकार कर दिया है।
यह रिपोर्ट न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने रूसी समाचार एजेंसियों के हवाले से दी है। यूक्रेन पर रूसी आक्रमण के बाद से पश्चिमी देशों द्वारा मॉस्को पर लगातार प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। रूस पर हाल के दिनों में इतने प्रतिबंध लगाए गए हैं कि रूस ने उत्तर कोरिया और ईरान जैसे देशों को भी पीछे छोड़ दिया है।
हाल ही में रूसी विदेश मंत्रालय ने इस सप्ताह चेतावनी दी थी कि रूसी यात्री उड़ानों की सुरक्षा खतरे में थी। इंटरफैक्स सहित एजेंसियों ने हवाई जहाज की उड़ान योग्यता बनाए रखने के लिए जिम्मेदार एक रूसी फेडरल एयर ट्रांसपोर्ट एजेंसी अधिकारी वालेरी कुडिनोव के हवाले से कहा कि चीन द्वारा मना करने के बाद रूस अब भारत और तुर्की जैसे देशों से मदद की उम्मीद में है।
उन्होंने आगे बताया है कि कि रूसी कंपनियां अपने विमानों को रजिस्टर कर रही हैं जिनमें से कई विदेशों में रजिस्टर्ड हैं। रूस में अमेरिका और यूरोपीय यूनियन के विमानन प्रतिबंधों के बाद उन्हें उम्मीद है कि कुछ अन्य लोगों को पट्टे पर देने वाली कंपनियों को वापस कर दिया जाएगा।

Back to top button