नमस्कार, मैं कोविड कन्ट्रोल रूम जनपद गाजीपुर से बोल रहा हूँ…


गाजीपुर 11 जनवरी, 2022 (सू0वि0)- वैश्वीक महामारी की तीसरी लहर के संक्रमण के कारण मरीजो की संख्या में उत्तरोत्तर वृद्धि लगातार होती जा रही है, जिससे महामारी के इस दौर में यह आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए जनसामान्य को कोविड-19 से संक्रमित मरीज एवं उनके परिजनों को किसी अप्रिय स्थिति या कठिनाईयों का सामना न करना पडे़, इस क्रम में जिलाधिकारी एम पी सिंह ने ‘द‘ एपीडेमिक डिजीज एक्ट के डिजास्टर मैनेजमेन्ट एक्ट 2005 एवं उत्तर प्रदेश महामारी कोविड-19 विनियमावली-2020 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए कोविड-19 संक्रमित मरीजो/रोगियों के इलाज एवं संक्रमण को रोकने हेतु विकास भवन स्थित इण्टीग्रेटेड कन्ट्रोल कमाण्ड सेन्टर (आई0सी0सी0सी) की बैठक सम्पन्न हुयी। बैठक के उपरान्त शिकायत पुलिस हेल्प लाइन नं0 112 व इण्टीग्रटेड कमाण्ड कन्ट्रोल सेन्टर गाजीपुर में स्थापित टेलीफोन नं0-0548-2226100, 2226101, 2226102, 2226103, 2226104, 2226105, 2226106, 2226107, 2226108, 2226109, 2226110, 2226111, 2226112, 2226113 एवं 2226114 पर दर्ज करायी जा सकती है। उन्होने निर्देशित किया है कि कोई व्यक्ति में पाजिटीव केश के लक्षण मिलते है तो उनको हर तरह से सुविधा दिया जाय, कोविड मरीज, या उसके परिजन या अन्य किसी भी व्यक्ति का फोन आने पर शिष्टतापूर्ण ढंग से विनम्रता पूर्वक बात की जाय, कॉलर का फोन प्राप्त होने पर विनम्रतापूर्वक अभिवादन करते हुए कहाँ जायेगा कि नमस्कार, मैं कोविड कन्ट्रोल रूम जनपद गाजीपुर से बोल रहा हूँ, हम आपकी क्या मदद कर सकते हैं। इसके पश्चात कॉलर की बात को ध्यान पूर्वक सुना जायेगा और कॉलर द्वारा जो समस्या/ परेशानी या सुझाव बताया जायेगा, उसे नोट करते हुए तत्काल सम्बन्धित तैनात अधिकारी अथवा शिफ्ट इन्चार्ज को अवगत कराया जायेगा।
बैठक में बताया गया कि इण्ट्रीग्रेटेड कन्ट्रोल कमाण्ड सेन्टर(आई०सी०सी०सी०) हाल के अन्दर और बाहर सी०सी०टी०वी० कैमरा स्थापित है। आई०सी०सी०सी० में तैनात सभी अधिकारियों से अपेक्षा है कि यथा स्थान बैठेंगें और अपना व्यवहार एवं आचरण ठीक रखेगें एवं अपने दायित्वों का सम्यक् निर्वहन करेगें, तैनात सभी अधिकारी/कर्मचारी निर्धारित समय पर ड्यूटी पर आना सुनिश्चित करेगें, सभी अधिकारी/कर्मचारी फेस मास्क अवश्य धारण करेगें तथा सेनेटाईजर का प्रयोग करते रहेगें एवं आस-पास साफ-सफाई का ध्यान रखेंगें, सभी अधिकारी/कर्मचारी पूर्ण अनुशासन और निष्ठापूर्वक अपने दायित्वों का निर्वहन करेगें, व्यवस्था में तैनात सभी अधिकारियों/कर्मचारियों को आई०सी०सी०सी० में स्थापित सभी लैण्ड लाईन और मोबाईल नं० याद होने चाहिए। कन्ट्रोल रूम के अन्दर किसी भी टेलीफोन या कम्प्यूटर या अन्य इलेक्ट्रानिक्स डिवाईस में तकनीकी कमी आने पर तत्काल उसका समाधान कराते हुए ठीक/क्रियाशील कराया जाना सुनिश्चित करेगें, सभी अधिकारी/कर्मचारी प्रतिदिन अपनी रिपोर्ट शिफ्ट इन्चार्ज को देगें और शिफ्ट इन्चार्ज द्वारा पूरी रिपोर्ट नोडल अधिकारी को दी जायेगी, सभी टेलीफोन रिसीवर की कॉलर से बातचीत की रिपोर्ट और अन्य महत्वपूर्ण रिपोर्ट तिथिवार स्कैन कर कम्प्यूटर में सुरक्षित रखी जायेगी। जिससे किसी भी समय उसका प्रयोग/अवलोकन किया जा सके, यह शिफ्ट इन्चार्ज का व्यक्तिगत दायित्व होगा, शिफ्ट इन्चार्ज द्वारा प्रतिदिन सभी अधिकारियों/कर्मचारियों के साथ आई०सी०सी०सी० के सभी कार्यों की समीक्षा अवश्य की जायेगी। कन्ट्रोल रूम में तैनात समस्त अधिकारी/कर्मचारी शिफ्ट इन्चार्ज के सामान्य नियंत्रण में रहते हुए नोडल अधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी, गाजीपुर के पूर्ण नियंत्रण में उनके निर्देशानुसार कार्य करेगें। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि आर0आर0टी0टीमो को सभी विकास खण्डो/नगर पंचायतो में एक-एक एवं नगर पालिकाओं में दो-दो टीमो द्वारा कार्य कराया जाय। रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, आने-जाने वाले यात्रियों की जॉच अवश्य करायी जाय। किसी भी यात्री में लक्षण दिखे तो तत्काल दवा का कीट उपलब्ध कराते हुए होम आईसोलेट या जिला अस्पताल में भर्ती कराया जाय। पॉजिटीव मरीजो को फोन कर उनकी सुविधा, चिकित्सा व स्वास्थ्य की जानकारी समय-समय पर लिया जाय। उन्होने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया कि ग्राम पंचायतो में बनायी गयी निगरानी समितियों को सक्रीय रखा जाय।
इसी क्रम में दिनांक 10.01.2022 को जिला चिकित्सालय गाजीपुर में जिलाधिकारी एम.पी.सिह के साथ कई अन्य अधिकारियों ने बूस्टर डोज लगवाया। जिलाधिकारी ने जनपदवासियों से अपील की है कि अपने आस-पास एवं अन्य स्थानों पर किसी भी तरह से कोविड-19 का कोई भी लक्ष्ण दिख रहा हो तो कन्ट्रोल रूम में तुरन्त फोन कर सहायता लिया व दिया जा सकता है। जिन लोगों ने अभी कोरोना का टीका नहीं लगाया है, जल्द से जल्द लगवा लें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के गाइडलाइंस का शत-प्रतिशत पालन करें, जिससे जनपद में संक्रमण का प्रसार कम से कम हो सके। मास्क जरूर लगाएं। भीड़भाड़ में जाने से बचें। एक-दूसरे से पर्याप्त दूरी बना कर रहें। कुछ भी छुएं तो साबुन-पानी से हाथ धुलें। सेनेटाइजर का प्रयोग करें। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्रीप्रकाश गुप्ता, अपरजिलाधिकारी वि0/रा0, अपर जिलाधिकारी भू0/रा0, पुलिस अधीक्षक शहरी/ग्रामीण, जिला विकास अधिकारी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी एवं कोविड-19 से सम्बन्धित अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

Back to top button