सैन्यधाम के रूप में उत्तराखंड का पांचवां धाम विकसित किया जा रहा है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की जमकर तारीफ की और कहा कि धामी धाकड़ बल्लेबाज ही नहीं गेंदबाज भी हैं। 
इस दौरान रक्षा मंत्री ने जनरल बिपिन रावत को याद करते हुए कहा कि वह सदियों तक यादों में जीवित रहेंगे। रक्षामंत्री ने अपने संबोधन में पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि पड़ोसी देश कुछ न कुछ नापाक हरकतें करता रहता है। हम दुश्मन को इस पार ही नहीं उस पार भी जाकर मार सकते हैं। 
सैन्यधाम के शहीद द्वार का नाम सीडीएस जनरल बिपिन रावत के नाम पर रखा जाएगा। 63 करोड़ की लागत से बनने वाले सैन्यधाम में शहीद जसवंत सिंह और हरभजन सिंह के मंदिर बनाए जाएंगे। धाम में अमर जवान ज्योति, म्यूजियम, थियेटर, गन, टैंक प्रमुख आकर्षण का केंद्र होंगे। 50 बीघा में बनने वाला धाम दो साल के भीतर बनकर तैयार हो जाएगा। यहां अखंड ज्योति प्रज्वलत रहेगी।राजनाथ सिंह ने कहा कि नेपाल से हमारे रोटी बेटी के रिश्ते हैं। सांस्कृतिक रिश्ते हैं। कुछ ताकतें ऐसी हैं जो इस रिश्ते को खराब करना चाहती है। भले ही हमें शीश झुकाना पड़े, लेकिन अपने पड़ोसी नेपाल से रिश्ते को टूटने नहीं दिया जाएगा। तिब्बत से भी हमारे रिश्ते बेहतर रहे हैं। अगर हमारे देश की तरफ कोई आंख उठाने की कोशिश करेगा तो हम मुंह तोड़ जवाब देंगे। 
सैन्यधाम के रूप में उत्तराखंड का पांचवां धाम विकसित किया जा रहा है। जिसमें प्रदेश के शहीदों की यादों को संजोकर रखा जाएगा।

Back to top button