क्रिकेट में कप्तानी को लेकर शुरू हुई “स्टार वॉर”

भारतीय क्रिकेट में विराट कोहली को वनडे टीम की कप्तानी से हटाए जाने पर शुरू हुआ विवाद लगातार नया टर्न ले रहा है। सीनियर अधिकारी का यह बयान विराट कोहली की तरफ से बुधवार को ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के बाद आया। विराट ने BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली के उस दावे को गलत बताया, जिसमें गांगुली ने कहा था कि विराट को टी-20 की कप्तानी छोड़ने से रोका गया था।

एक सीनियर BCCI अधिकारी ने साफतौर पर कहा है कि विराट कोहली को सितंबर में ही बता दिया गया था कि WHITE BALL क्रिकेट में टीम के दो कप्तान नहीं रखे जाएंगे। विराट ने इसके बावजूद खुद ही टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने की घोषणा कर दी।

टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने बड़ा खुलासा किया है. कोहली ने कहा है कि वह वनडे में टीम इंडिया की कप्तानी करना चाहते थे. लेकिन टीम इंडिया के सेलेक्टर्स ने उन्हें हटा दिया. साथ ही उन्होंने ये भी साफ कर दिया है कि वह साउथ अफ्रीका के खिलाफ आगामी वनडे सीरीज में खेलेंगे. उन्होंने BCCI को छुट्टी की अर्जी नहीं दी थी.

गौरतलब है कि पिछले एक महीने से विराट कोहली सुर्ख़ियों में बने रहे हैं. इसकी वजह है कप्तानी. BCCI ने विराट कोहली से वनडे कप्तानी छीन ली. और रोहित शर्मा को नया वनडे कप्तान बना दिया. इसके बाद ख़बरें आने लगी कि विराट कोहली साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में नहीं खेलेंगे. कोहली टेस्ट सीरीज के बाद बेटी वामिका का जन्मदिन का मनाने के लिए छुट्टी पर रहेंगे. जिसके बाद मीडिया में ये बातें होने लगी कि विराट रोहित की कप्तानी में नहीं खेलना चाहते हैं.

इतना ही नहीं, 12 दिसंबर को मुंबई में विराट कोहली को टीम इंडिया के बायो-बबल में एंट्री करनी थी. लेकिन कोहली अगले दिन पहुंचे. इसके बाद अफवाहों का बाज़ार और भी ज्यादा गर्म हो गया. लेकिन अब खुद विराट कोहली ने सब कुछ साफ़ कर दिया है.

साउथ अफ्रीका दौरे पर जाने से पहले कप्तान कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लिया. जहां उन्होंने पत्रकारों के तमाम सवालों के जवाब दिए. वनडे कप्तानी छीने जाने पर कोहली ने कहा,

‘जब मैंने T20 कप्तानी छोड़ी, तो मैंने BCCI को बताया उसमें कुछ गलती नहीं थी. सभी ने इसे सही तरीके से लिया. मैंने सेलेक्टर्स को बताया था कि मैं वनडे और टेस्ट में कप्तानी करना चाहूंगा. हालांकि सेलेक्टर्स कोई फैसला लेते हैं तो मैं तैयार हूं. सेलेक्टर्स ने बाद में जो फैसला किया, वो सामने है.टेस्ट टीम के चयन से डेढ़ घंटे पहले मुझसे संपर्क किया गया. टेस्ट टीम पर बातचीत हुई और फोन रखने से पांच मिनट पहले पांचों चयनकर्ताओं ने मुझे बताया कि मैं वनडे टीम की कप्तानी नहीं करूंगा. मैंने सेलेक्टर्स के फैसले को स्वीकार कर लिया है.

जब कोहली से वनडे कप्तानी छीने जाने पर सवाल किया गया. तो उन्होंने कहा,

मैं कारणों को समझ सकता हूं. BCCI ने तार्किक दृष्टिकोण से फैसला लिया है. मेरे और रोहित शर्मा के बीच कोई समस्या नहीं है. मैं पिछले दो साल से सफाई दे रहा हूं और अब थक गया हूं. मेरा कोई भी काम या फैसला टीम को नीचा दिखाने के लिए नहीं होगा

बता दें कि भारतीय टीम 16 दिसंबर को साउथ अफ्रीका दौरे के लिए रवाना होगी. 26 दिसंबर से भारत का साउथ अफ्रीका दौरा शुरू हो रहा है. और इस दौरे पर टीम इंडिया तीन मैचों की टेस्ट सीरीज और तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलेगी.

Back to top button