सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुरु किया गरीबों को निश्शुल्क राशन वितरण, बोले-2017 से पहले खा जाते थे माफिया

जनपद लखनऊ दिनांक 12/12/2021

Day Night News

Netional News Network

Lucknow

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दस लोगों को निश्शुल्क राशन प्रदान किया इस दौरान वह काफी भावुक भी हो गए। उन्होंने कहा कि आज हम गरीबों को जो निश्शुल्क राशन दे रहे हैं वह प्रदेश में पहले भी था। 2017 से पहले यही खाद्यान माफिया के पास चला जाता था।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में योजना भवन के पास राशन की दुकान से गरीबों के लिए दोगुना निश्शुल्क राशन वितरण प्रारंभ किया। इस अभियान के तहत करीब पन्द्रह करोड़ से अधिक राशनकार्ड धारकों को मुफ्त में राशन मिलेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसका शुभारंभ करने के साथ पीएम नरेन्द्र मोदी का आभार जताया। मंत्री अपने-अपने क्षेत्र में इस योजना की शुरुआत करेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को राजधानी में प्रदेशव्यापी निशुल्क राशन वितरण अभियान का शुभारंभ करते हुए पूर्व की सरकारों पर करारा हमला बोला। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दस लोगों को राशन प्रदान किया, इस दौरान वह काफी भावुक भी हो गए। उन्होंने कहा कि आज हम गरीबों को जो निश्शुल्क राशन दे रहे हैं, वह प्रदेश में पहले भी था। 2017 से पहले यही खाद्यान माफिया के पास चला जाता था और वह लोग इसको बेच देते थे, जबकि गरीब टकटकी लगाए देखता था। उसके हक का खाद्यान दूसरे देश चला जाता था। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पहले काफी खाद्यान घोटाला हुआ। पिछली सरकार के कार्यकाल में सैकड़ों लोगों की भूख से मौत हुई, लेकिन सरकार माफिया के दबाव में रही। डबल इंजन की सरकार का डबल खाद्यान का लाभ भी सबको मिले इसीलिए इसको वितरण योजना को होली तक आगे बढऩे का निर्णय भी लिया गया है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों में प्रदेश में खाद्यान्न घोटाले हुए। गरीबों के अनाज को हड़प कर माफिया उसे दूसरे देशों में भेज देते थे। प्रदेश में भूख से मौतें भी होती थीं। भाजपा सरकार ने राशन वितरण की पारदर्शी व्यवस्था लागू कर इन घोटालों घपलों पर अंकुश लगा दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत मुफ्त खाद्यान्न वितरण कार्यक्रम शुरू किया है। इस योजना से उत्तर प्रदेश में 15 करोड़ लोगों को फायदा होगा। उत्तर प्रदेश सरकार ने भी तीन महीने की अवधि के लिए मुफ्त खाद्यान्न वितरित किया है। उन्होंने कहा कि 2021 में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के बाद हमने इस योजना के तहत तहत लगभग सात महीने रामनवमी से दिवाली तक मुफ्त अनाज दिया। इसके बाद हमने इसको होली तक बढ़ाया है। लोग दिवाली से होली तक महीने में दो बार अनाज ले सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा शास्त्र भी कहता भूखे को रोटी महापुण्य का काम और अगर सरकारी योजना से जोड़कर दे तो और भी महापुण्य ही है। पीएम मोदी ने देश में खाद्यान वितरण का बड़ा अभियान शुरू किया है। देश के करीब 80 करोड़ लोग इससे लाभान्वित हो रहे हैं। यूपी में लगभग 15 करोड़ को फायदा हो रहा है। प्रधानमंत्री के निर्देश पर प्रदेश में हमने भी इसको शुरू किया है। हमने राज्य में अप्रैल से जून तक निश्शुल्क खाद्यान वितरण कराय। इसके बाद 2021 में दूसरी वेव आयी तो इसको फिर शुरू किया। केन्द्र सरकार ने सात महीने तक लगातार खाद्यन वितरण किया। राज्य सरकार ने भी जून, जुलाई, अगस्त में किया।

Back to top button