आज सरकार में बैठी ताकतें संविधान की मर्यादा को तोड़ने का प्रयास कर रही हैं:सुनील राम

गाजीपुर।संविधान निर्माता भारत रत्न डॉ भीमराव अंबेडकर के 66 वें परिनिर्वाण दिवस को जिला कांग्रेस कमेटी के तत्वाधान में स्थानीय सिटी रेलवे स्टेशन स्थित कार्यालय पर मनाया गया। समारोह में गाज़ीपुर जनपद के कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के साथ स्थानीय लोग शामिल रहे।समारोह की अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष श्री सुनील राम ने डॉ. भीमराव अंबेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर द्वारा लिखित भारतीय संविधान दुनिया के श्रेष्ठ संविधान में से एक है। जिसमें समाज के अंतिम व्यक्ति के लिए भी न्याय सुनिश्चित किया गया है। हमारे संविधान ने समाज में व्याप्त ऊंच-नीच छुआछूत समाप्त कर सभी को बराबरी का जीवन जीने का हक दिया। वो संविधान की ही ताकत है कि यहां सत्ता का परिवर्तन कभी ताकत के दम पर नहीं वरन जनमत से शांति-पूर्ण ढंग से होता आया है। उन्होंने कहा कि दलित होते हुए भी उन्होंने सदैव धर्मनिरपेक्ष लोकतंत्र में ही विश्वास रखा, इसीलिए वे सच्चे कांग्रेसी होने के साथ साथ लोकतंत्र के हितैषी रहे और आधुनिक, सशक्त व संगठित भारत की परिकल्पना के साथ उन्होंने संविधान की संरचना की थी। उन्होंने कहा कि आज सरकार में बैठी जो ताकतें संविधान की मर्यादा को तोड़ने का प्रयास कर रही हैं, उन्हें देश की जनता कभी कामयाब नहीं होने देगी। कांग्रेस उन्हें सड़क से लेकर सदन तक घेरेगी।

इस अवसर पर मीडिया प्रभारी अजय कुमार श्रीवास्तव ने भी संविधान निर्माण की प्रक्रिया के इतिहास पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए बताया कि 6 दिसम्बर 1956 को श्रधेय बाबा साहब का परिनिर्वाण हुआ था । उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान दुनिया कर श्रेष्ठ संविधानो में से एक है और अनेकता में एकता की कल्पना को साकार करते हुए उन्होंने देश के संविधान को धर्म निरपेक्ष रखते हुए सबके लिए समान व्यवस्था दी। उन्होंने कहा कि देश को बचाने के लिए अब सबको एकजुट होना होगा, जिससे कोई भी लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ न कर सके, आज सरकारें गरीबो और मजलुमो के साथ ज्यादती कर रही है जिसकी इजाज़त संविधान नहीं देता।बाबा साहब भीम राव अंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में प्रमुख रूप से डॉ जनक कुशवाहा, मंसूर जैदी ,सतीश उपाध्याय, गुड्डू राम ,ज्ञान सिंह मुन्ना, राजेश गुप्ता, पंकज दुबे, संदीप विश्वकर्मा, अखिलेश राय, राजेंद्र भारती, यासीन अंसारी, शमशाद आलम ,उषा चतुर्वेदी, कुसुम तिवारी ,आलोक यादव, अरुण गुप्ता, हिमांशु श्रीवास्तव आदि लोग उपस्थित रहे।

Back to top button