सरकार ने दी मंजूरी ,15 दिसंबर से फिर शुरू होंगी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें,

भारत से इंटरनेशनल फ्लाइट्स 15 दिसंबर से उड़ान भरना शुरू कर देंगी। हालांकि, इसमें वे 14 देश शामिल नहीं होंगे। कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद इन देशों की उड़ानों को प्रतिबंधित किया गया है। हालांकि, एयर बबल के तहत यहां जरूरी फ्लाइट्स जारी रहेंगी। इन देशों में ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड, फिनलैंड, साउथ अफ्रीका, ब्राजील, चीन, मॉरीशस, सिंगापुर, बांग्लादेश, बोत्सवाना, जिम्बांवे और न्यूजीलैंड शामिल हैं। चीन और ब्रिटेन सहित 14 देशों के लिए उड़ान अभी संभव नहीं है। कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए केंद्र सरकार ने इन 14 देशों के लिए अभी उड़ानों की अनुमति नहीं दी है। इन 14 देशों में यूके, फ्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड, फिनलैंड, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे और सिंगापुर शामिल हैं। सरकार की तरफ से कुछ दिन पहले ही संकेत दिए गए थे कि इस साल के अंत तक कोविड की वजह से उड़ानों पर लगा प्रतिबंध हटा लिया जाएगा। पिछले हफ्ते नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था कि सरकार अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवाओं को बहाल करने की प्रक्रिया का आकलन कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार दुनिया के कुछ हिस्सों में कोरोना वायरस महामारी की स्थिति को ध्यान में रखते हुए सेवाओं को सामान्य करना चाहती है। कोरोना महामारी को देखते हुए भारत में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध पिछले साल 23 मार्च 2020 से लागू है।
हालाकि, जिन देशों में कोरोना महामारी का प्रकोप कम हुआ है वहां के लिए फिर से उड़ाने चालू की गई हैं। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि पर्यटन उद्योग सरकार पर उड़ानों से प्रतिबंध हटाने का दबाव बना रही थी। पर्यटन उद्योग ने उन देशों के लिए उड़ानें शुरू करने का अनुरोध किया था जहां कोरोना संक्रमण नियंत्रण में है। बबल’ समझौता किया है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि भारत से और भारत के लिए शेड्यूल कमर्शियल इंटरनेशनल पैसेंजर सर्विस 15 दिसंबर 2021 से शुरू की जा सकती है। बता दें कि कोरोना महामारी की वजह से पिछले साल मार्च महीने से ही अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बंद थीं।

Back to top button