कोरोना का नया वैरिएंट ‘बी.1.1.529’ दक्षिण अफ्रीका में मिला ,,भारत हुआ अलर्ट

DAY NIGHT NEWS LUCKNOW

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट से एक बार फिर पूरी दुनिया चिंता में आ गई है. जब कई देशों में कोविड के मामले अब कम होने शुरू हो गए थे, तब फिर एक नए वैरिएंट ने हर किसी को डरा दिया है. ये नया वैरिएंट साउथ अफ्रीका में पाया गया है. कहा जा रहा है कि ये काफी तेजी से फैलता है और इसका म्यूटेशन 30 से अधिक बार हो चुका है. इस वैरिएंट को B.1.1.529 नाम दिया गया है। इस बीच WHO की Technical Advisory Group ने अहम बैठक बुलाई है. उस बैठक में इस नए वैरिएंट को लेकर मंथन होने वाला है. WHO का कहना है कि इस वैरिएंट पर अभी और रिसर्च करने की जरूरत है. सबसे जरूरी है कि हम अधिक से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाएं, ताकि इससे मुकाबला किया जा सके। पिछले दो सालों में कोरोना लाखों जानें ले चुका है। कई देशों को यह संक्रमण इतनी बुरी तरह तोड़ चुका है कि उनकी अर्थव्यवस्था चार से पांच साल पीछे खिसक गई है। इस बीच एक बार फिर से कोरोना के नए वैरिएंट ने दुनिया में दस्तक दे दी है, यह नया ‘बी.1.1.529’ वैरिएंट दक्षिण अफ्रीका और बोत्सवाना में मिला है। वैज्ञानिकों का कहना है कि म्यूटेशन के मामले में इस नए वैरिएंट ने अब तक के सामने आए सभी वैरिएंट को पीछे छोड़ दिया है। यह नया संक्रमण डेल्टा से भी ज्यादा खतरनाक है और उससे कहीं ज्यादा संक्रामक है। 
कोरोना का नया वैरिएंट ‘बी.1.1.529’ दक्षिण अफ्रीका में मिला है। इसमें अबतक 32 म्यूटेशन हो चुके हैं। वैज्ञानिक इसे डेल्टा व डेल्टा प्लस से भी ज्यादा संक्रामक बता रहे हैं। इसी कारण केंद्र सरकार ने भी सभी राज्यों में अलर्ट जारी कर दिया है। कोरोना के नए वैरिएंट ‘बी.1.1.529’ के अबतक के 26 मामले सामने आए हैं और यह तीन देशों बोत्सवाना, दक्षिण अफ्रीका और हांगकांग में फैल चुका है। वैज्ञानिकों का कहना है कि इस नए वैरिएंट में अब तक 32 म्यूटेशन देखने को मिले हैं। यह अन्य वैरिएंट में हुए म्यूटेशन से कहीं ज्यादा है। इसलिए इसे काफी खतरनाक और संक्रामक बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि यह वैरिएंट डेल्टा और डेल्टा प्लस से भी ज्यादा खतरनाक है।यूके की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी ने एक बयान में कहा, “वैरिएंट में बड़ी संख्या में स्पाइक प्रोटीन म्यूटेशन के साथ-साथ वायरल जीनोम के अन्य हिस्सों में म्यूटेशन शामिल हैं। ये संभावित रूप से जैविक रूप से महत्वपूर्ण म्यूटेशन हैं जो टीके, उपचार और ट्रांसमिशन के संबंध में वायरस के व्यवहार को बदल सकते हैं। इसके लिए अधिक जांच और सावधानी बरतने की आवश्यकता है।
कोरोना के नए वैरिएंट को देखते हुए ब्रिटेन के बाद इटली और जर्मनी ने भी कड़े कदम उठाए हैं। जर्मनी ने दक्षिण अफ्रीका की ज्यादातर यात्राओं पर प्रतिबंध लगा दिया है, तो वहीं इटली में भी दक्षिण अफ्रीकी देशों की यात्राओं पर प्रतिबंध लगाया गया है। इसके अलावा सिंगापुर ने भी कोरोना का नया वैरिएंट सामने आने के बाद सात दक्षिण अफ्रीकी देशों की उड़ानों को अस्थाई तौर निलंबित कर दिया है।  

Back to top button