देश में इस तरह का पहला कदम उठाया दिल्ली सरकार ने , 10 साल पुराने डीजल वाहनों का क्या होगा। ..

DAY NIGHT NEWS LUCKNOW

दिल्ली सरकार का बड़ा बयान, पेट्रोल-डीजल वाहनों में होगी रेट्रोफिटिंग

आम आदमी पार्टी के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार ने 10 साल पुराने डीजल वाहनों को इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट करने का रास्ता साफ कर दिया है।

दिल्ली परिवहन विभाग द्वारा अब तक कम से कम 100,000 ऐसे वाहनों का रजिस्ट्रेश रद्द किया जा चुका है। यह संख्या बहुत कम है क्योंकि दिल्ली में 38 लाख पुराने वाहन हैं जो तकनीकी रूप से शहर की सड़कों पर नहीं चल सकते हैं। इन 38 लाख में से 35 लाख पेट्रोल वाहन हैं जो 15 साल या उससे अधिक पुराने हैं और लगभग 3 लाख डीजल वाहन हैं जो 10 साल या उससे अधिक पुराने हैं।
साल 2015 में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल और साल 2018 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी आदेशों के मुताबिक, 10 साल से ज्यादा पुराने रजिस्टर्ड डीजल वाहन और 15 साल से ज्यादा पुराने पेट्रोल वाहन सहित कोई भी वाहन दिल्ली-एनसीआर में नहीं चलाए जा सकते हैं। 

गहलोत ने यह भी घोषणा की है कि दिल्ली सरकार शहर में डीजल वाहनों की रेट्रोफिटिंग की इजाजत देने जा रही है, जो देश में इस तरह का पहला कदम होगा। इस फैसले से 10 साल की निर्धारित समय अवधि के बाद भी डीजल वाहनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। 

गहलोत ने कहा, “दिल्ली अब इंटरनल कंब्शन इंजन (ICE) की इलेक्ट्रिक रेट्रोफिटिंग के लिए तैयार है। डीजल वाहन, यदि फिट पाए जाते हैं, तो उन्हें अब रेट्रोफिटिंग द्वारा ईवी में बदला जा सकता है। परिवहन विभाग जल्द ही अनुमोदित परीक्षण एजेंसियों द्वारा शुद्ध इलेक्ट्रिक किट के निर्माताओं को सूचीबद्ध (इम्पैनल्ड) करेगा, जिससे डीजल वाहन यहां 10 साल से ज्यादा समय तक चलते रहें।” 

Back to top button