…जब वकील के तेवर देख डीएम साहब को देनी पड़ी सख्त हिदायत

गाज़ीपुर।सोमवार को सम्पूर्ण समाधान दिवस के मौके पर गाज़ीपुर स्तिथ राईफल क्लब में उस वक्त अफरा तफरी मच गई जब एक शिकायत कर्ता गाज़ीपुर शहर स्तिथ बरबरहना निवासी हाईकोर्ट इलाहाबाद के वकील अतिउल रजा ने जिलाधिकारी को मोहल्ले में बन रही गुणवत्ता विहीन सड़क को लेकर शिकायती पत्र सौंपा।शिकायती पत्र देते समय वकील साहब काफी तेवर में थे नतीजा यह हुआ कि डीएम साहब को वकील अतिउल रजा को सख्त हिदायत देनी पड़ी कि थोड़ा लहजे को धीमा करके बोलिय। पूरे वाकये के दौरान मौजूद अधिकारी हैरान रह गए।
दरअसल पूरा मामला शहर के बरबरहना का है,जहा मोहल्ले में सड़क इंटरलॉकिंग का कार्य चल रहा है,आरोप है कि कार्य मानक के अनुरूप नही हो रहा है।जिसपर वकील अतिउल रजा ने मौजूद ठेकेदार से कार्य का मानक जानना चाहा जिसपर ठेकेदार ने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि आप होते कौन है पूछने वाले।बाद में पता चला कि यह कार्य बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के समर्थक मुहल्ला सराय,गाज़ीपुर निवासी आरिफ का है।
शिकायतकर्ता ने शिकायतीपत्र में आशंका जताई है कि गुंडे और माफियाओं को काम कैसे मिल जा रहा है।वही विभागीय अधिकारियों से मिली भगत करके ठेकेदार मानक के अनुसार कार्य न करा करके सरकारी धन का जमकर दुरुपयोग किया जा रहा है।
जिलाधिकारी एमपी सिंह ने मामले की गंभीरता को देखते विभागीय अधिकारियों को जांच कर कार्रवाई करने की बात कही है।
बता दे कि महीने के पहले और तीसरे शनिवार को पड़ने वाला समाधान दिवस अवकाश के चलते सोमवार को समाधान दिवस रखा गया था।
जिलाधिकारी ने बताया मौके पर कुल 60 प्रार्थनापत्र आए जिसमे 3 का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया।बाकी के लिए संबंधित अधिकारियों को निस्तारण करने का आदेश दिया गया है।

Back to top button