उफ…विद्यामंदिर में दुष्कर्म।

खण्डशिक्षा मरदह का कथित चालक ने किया सातवीं की छात्रा से जबरन दुष्कर्म।

खण्डशिक्षा अधिकारी और विद्यालय के एक अध्यापक के प्राश्रय से घटित हुई कुकृत की घटना।

खण्डशिक्षा अधिकारी का चालक होने की वजह से विद्यालय के अध्यापक चालक को कैम्पस में घुसने का नही करते थे विरोध।

ग़ाज़ीपुर:शुक्रवार को मरदह खण्डशिक्षा अधिकारी कार्यालय स्थित कम्पोजिट विद्यालय की कक्षा 7वीं की नाबालिक छात्रा से खण्डशिक्षा अधिकारी का कथित वाहन चालक मुन्ना उर्फ डब्लू ने छात्रा को बहला-फुसला कर विद्यालय के एक कमरे में ले जाकर जबरदस्ती दुष्कर्म किया ,दुष्कर्म के बाद आरोपी चालक बोलेरो लेकर फरार हो गया।
पहले तो बेसिक शिक्षा विभाग की खण्डशिक्षा अधिकारी कल्पना और उनका सिपासलाहकार उसी विद्यालय का अध्यापक जिसकी बोलेरो गाड़ी से खण्डशिक्षाधिकारी चलती थी अपने चालक को बचाना चाहा लेकिन पीड़िता घर वाले नही माने और थाने पहुँच गए।पुलिस ने पीड़िता के पिता की तहरीर पर आरोपित चालक मुन्ना उर्फ डब्लू निवासी बरेन्दा थाना मरदह के खिलाफ पाक्सो एक्ट सहित दुष्कर्म का मुकदमा पंजीकृत कर शुक्रवार की देर रात आरोपित युवक को देशी तमंचा और तो जिंदा कारतूस के साथ  गिरफ्तार कर लिया। 
हालांकि खण्डशिक्षा अधिकारी कल्पना दुष्कर्म की घटना के समय अपने आप को वाराणसी में बेसिक शिक्षा मंत्री की मीटिंग में होने का हवाला दे रही है लेकिन ब्लॉक के अध्यापकों ने बताया कि पिछले कई महीनों से आरोपित चालक मुन्ना उर्फ डब्लू खण्डशिक्षा अधिकारी के साथ विद्यालयों के निरीक्षण के समय मैडम का निरीक्षण का मोबाइल से फ़ोटो और वीडियो बनाता था और मैडम को अपना खास बताकर अध्यापकों पर रौब जमाता था।सोचने की बात है कि एक प्राइवेट चालक एक परिषदीय विद्यालय के कैम्पस में बिना किसी के सह के कैसे प्रवेश कर सकता है,सवाल यह उठता है कि उसे विद्यालय परिसर में घुसने के अनुमति किसने दी?,किसकी अनुमति से आरोपित चालक बीआरसी और विद्यालय परिसर से पिछले कई महीने से आवाभगत जमाये हुए था?विद्यालय परिसर में खण्डशिक्षा अधिकारी मरदह के चालक द्वारा किये गए कुकृत से जिले का बेसिक शिक्षा विभाग शर्मसार हुआ है।विद्यालय में उसी विद्यालय की छात्रा से जबरदस्ती दुष्कर्म होना कहि न कही विभाग को शर्मसार कर रहा है।क्या खण्डशिक्षा अधिकारी कल्पना सहित सिपासलाहकार अध्यापक जिसकी गाड़ी से खण्डशिक्षा अधिकारी चलती है जिससे चालक का विद्यालय कैम्पस में आना-जाना लगा था इनके ऊपर कोई कार्यवाही होंगी यह वक्त ही बताएगा।
पुलिस कप्तान रामबदन सिंह शनिवार को घटनास्थल पर पहुँच कर जायजा लिया और इस कुकृत में शामिल अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी का आदेश थानाध्यक्ष वीरेंद्र कुमार को दिया।बीएसए हेमन्त कुमार राव ने विद्यालय की प्रधानाध्यापिका को निलंबित कर दिया है।साथ ही साथ खण्डशिक्षा अधिकारी कल्पना सहित विद्यालय के सभी अध्यापकों की जांच के लिए त्रिस्तरीय कमेटी का गठन किया है।त्रिस्तरीय कमेटी में खण्ड शिक्षा अधिकारी बिरनो अभिनाश राय, खण्डशिक्षा अधिकारी सदर प्रीति गोयल और सादात के खण्डशिक्षा अधिकारी एसएन प्रजापति है।देखना है कि जांच में त्रिमय अधिकारी विभागीय खानापूर्ति कर लीपापोती करते है कि पीड़िता को न्याय दिलाने में मदद?इधर क्षेत्र के लोग चालक को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के साथ साथ खण्डशिक्षा अधिकारी कल्पना को निलंबित करने की मांग कर रहे है।इस संबंध में पुलिस अधीक्षक रामबदन सिंह ने बताया कि पीड़िता के पिता की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर आरोपित युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है अन्य पहलुओं पर भी मामले की जांच की जा रही है।

Back to top button