पत्रकार के खिलाफ हरिजन एक्ट का मुकदमा, डीआईजी से मिले पत्रकार

खबर चलाने पर पत्रकार के खिलाफ हरिजन उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करने के विरोध में डीआईजी से मिले पत्रकार।

पत्रकार अरुण कुमार पर दर्ज फर्जी मुकदमे के विरोध में इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल डीआईजी से मिला।

गोरखपुर, उत्तर प्रदेश।

पत्रकार अरूण कुमार के खिलाफ कैम्पियरगंज थाने में हरिजन उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करने को लेकर इण्डियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष पूर्वांचल सुरेन्द्र कुमार सिंह के नेतृत्व में पत्रकारों का प्रतिनिधिमंडल डीआईजी गोरखपुर से मिलकर न्याय की गुहार लगाई। डीआईजी ने कहा कि यह जांच का विषय है कि बिना जांच के पत्रकार के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया। पत्रकार के खिलाफ दर्ज मुकदमे की निष्पक्ष जांच कर न्याय दिलाया जाएगा।
ब्लाक के खजूरगांवा ग्राम पंचायत के प्राथमिक विद्यालय घीसापुर में बाउंड्रीवाल का निर्माण निर्माण चल रहा था। चहार दीवारी निर्माण में सादे बालू एवं सेम ईंट का प्रयोग हो रहा था। एक चैनल के पत्रकार अरूण कुमार ने पहुंचकर काम कर रहे कारीगर व मजदूरों से बातचीत का वीडियो बनाकर खबर चला दी। जिस पर ग्राम प्रधान अमरावती देवी के पति शिवसरन प्रसाद ने पत्रकार पर पैसा मांगने व धमकी देने का आरोप लगाते हुए थाने में तहरीर दिया। जिस पर पुलिस ने पत्रकार अरूण कुमार के खिलाफ धारा 385,504,506 व एससीएसटी एक्ट का मुकदमा दर्ज किया।
इस प्रतिनिधिमंडल में इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी, प्रदेश अध्यक्ष पूर्वांचल सुरेन्द्र कुमार सिंह, जिला अध्यक्ष गोरखपुर राकेश कुमार मिश्रा, देवेन्द्र प्रताप सिंह, अभय पाण्डेय, रामचन्द्र, दया कुमार, अरुण कुमार, सतीश कुमार, डाॅ. शकील अहमद, नवेद आलम, अंशुल वर्मा, सतीश चन्द, श्रवण कुमार आदि उपस्थित रहें।

Back to top button