राजभर समाज की भीड़ जुटाने में असफल रहे अनिल राजभर।

सुनील सिंह

ग़ाज़ीपुर:पूर्वाचंल में राजभर वोटरों में सेंधमारी की कवायत भाजपा ने शुरू कर दी है।2022 विधानसभा चुनाव का शंखनाद ग़ाज़ीपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सैदपुर के टाउन नेशनल इंटर से 20 सितम्बर को कर दिया था,लेकिन भसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश के गढ़ जहूराबाद के कासिमाबाद इंटर कालेज मैदान में शुक्रवार राजभर सम्मेलन में राजभरों की भीड़ अपेक्षाकृत कम रही।सभा मे कुर्सियां खाली पड़ी थी।कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर और कार्यक्रम के संजोजक रामप्रताप सिंह भीड़ जुटाने में असफल रहे।सभा में नाम मात्र राजभर  दिखाई दिए।स्थानीय लोगों के अनुसार 2 से ढाई हजार की भीड़ ही सभा में जुट पाई।ऐसे में मंत्री अनिल राजभर जहूराबाद में ओमप्रकाश राजभर को कैसे चुनौती देंगे यह समय ही बताएगा।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाओं का बखान किया।साथ ही साथ उन्होंने ग़ाज़ीपुर को एक महाविद्यालय और दो माध्यमिक विद्यालयों की सौगात भी दिया।कहा कि माफियाओं पर योगी सरकार ने बुलडोजर चलाकर उनकी 1800 करोड़ की संपत्ति को जप्त किया है।बिना नाम लिए ओवैसी पर निशाने साधते हुए उन्हें हैदराबाद की बिरयानी वाला कह डाला।प्रसासनिक अधिकारियों की मीटिंग में नकेल कसते हुए कहा कि यदि भर्ष्टाचार में लिप्त पाए गए तो कठोरतम सजा मिलेगी।प्रेस वार्ता में उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश से भर्ष्टाचार के एक भी मामले नही आये है इससे पहले इससे ईमानदार सरकार कभी नही आई।आजमगढ़ में जल्द ही विश्व विद्यालय की सौगात की घोषणा किया।इस मौके पर सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त, एमएलसी विशाल सिंह चंचल,विधायक सुनीता सिंह,अलका राय,भानुप्रताप सिंह,कुँवर रमेश सिंह पप्पू,ब्लॉक प्रमुख विजेंद्र सिंह, मनोज गुप्ता,शैलेश राम ,विजेंद्र राय, नंदा राजभर,रामप्रताप सिंह पिंटू,शशिप्रकाश सिंह आदि लोग थे।

Back to top button