सफेद कबूतरों के जोड़ों और गुब्बारों के हुजूम को आसमानों पर पूरा कर यादगारे हुसैन की इबारत लिखी गई – सैय्यद इरशाद अहमद

सफेद कबूतरों के जोड़ों और गुब्बारों के हुजूम को आसमानों पर पूरा कर यादगारे हुसैन की इबारत लिखी गई – सैय्यद इरशाद अहमद

गोरखपुर, उत्तर प्रदेश।

इमामबाड़ा मुतवाल्लियान कमेटी की जानिब से कोविड-19 से प्रभावित मुहर्रम के दसवीं के शाही जुलूस साहब इमामबाड़ा स्टेट नहीं निकल पाने में ग्रहण के बीच सफेद कबूतरों के जोड़ों और गुब्बारों के हुजूम को आसमानों पर परवाज करके यादगारे हुसैन की इबारत लिखी गई। आज मोहर्रम की दसवीं के मौके पर इमामबाड़ा स्टेट के अमन शांति के पैगाम को जन जन तक पहुंचाने का कार्य किया गया। इसी क्रम में जिला अध्यक्ष सैय्यद इरशाद अहमद ने कहा इमामबाड़ा मुतवाल्लियान कमेटी ने शासन प्रशासन द्वारा जारी की गई गाइड लाइन पर अमल करते हुए मोहर्रम के त्यौहार को अमनो अयान संप्रदायिक सौहार्द के बीच सकुशल संपन्न होने पर सभी मुतवल्लीयो का और जिला प्रशासन का शुक्रिया अदा किया। साथ ही साथ अमन के पुजारियों का भी हम शुक्रिया अदा करते हैं।
इस अवसर पर जिला शांति सद्भावना समिति के सचिव डॉ सुधाकर पांडे विशेष रूप से मौजूद रहे।
इस अवसर पर अध्यक्ष शकील शाही, मिन्नत गोरखपुरी, सोहराब खान, सरदार जसपाल सिंह, एडवोकेट अनीस अहमद, आफताब अहमद, प्रवीण श्रीवास्तव, हाजी जलालुद्दीन कादरी, मोहम्मद आकिब, मिर्जा फहद बैग, जुनैद अहमद, मोहम्मद इमरान, मुमताज अंसारी,आदि उपस्थित रहे।

Back to top button